Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Mar 2017 · 1 min read

दुनिया के हर माँ को मेरा नमन।

????????
प्रथम स्पर्श, प्रथम आलिंगन,
स्नेहमयी प्रथम माँ का चुम्बन।
माँ लब्ज में छुपा है बचपन,
जिसने दिया है हमको जीवन।
दुनिया के हर माँ को मेरा नमन।

थपकी, लोरी, बाहों का झुलन,
दो अधरों का माथे पे छुअन।
माँ की गोदी, स्नेहिल सुमन,
खुशियों से भरा हुआ है चमन।
दुनिया के हर माँ को मेरा नमन।

माँ का हृदय विशाल गगन,
हर लेती जो दुख-दर्द अगन।
करूणामयी, अमृतमयी नयन,
सुख शांति, निश्चिंतमयी शयन।
दुनिया के हर माँ को मेरा नमन।

कुमकुम, रोली, माथे का चंदन,
देती आशीष, करती नित वंदन।
दिन-रात जागती, करती जतन,
सुन नहीं पाती थी मेरी क्रन्दन।
दुनिया के हर माँ को मेरा नमन।

क्षण में सुलझाती मेरी उलझन,
माँ तुम बिन है एक अधूरापन।
उन अद्भुत पलों का करुँ मनन,
छोटा बच्चा आज भी मेरा मन।
दुनिया के हर माँ को मेरा नमन।
—लक्ष्मी सिंह ??

Language: Hindi
Tag: गीत
819 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from लक्ष्मी सिंह
View all
You may also like:
बहू-बेटी
बहू-बेटी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
💐प्रेम कौतुक-217💐
💐प्रेम कौतुक-217💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पेट भरता नहीं है बातों से
पेट भरता नहीं है बातों से
Dr fauzia Naseem shad
भूल गए हम वो दिन , खुशियाँ साथ मानते थे !
भूल गए हम वो दिन , खुशियाँ साथ मानते थे !
DrLakshman Jha Parimal
तिरंगा
तिरंगा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बच्चों के पिता
बच्चों के पिता
Dr. Kishan Karigar
■ आज ही बताया एक महाज्ञानी ने। 😊😊
■ आज ही बताया एक महाज्ञानी ने। 😊😊
*Author प्रणय प्रभात*
नीम करोरी वारे बाबा की, महिमा बडी अनन्त।
नीम करोरी वारे बाबा की, महिमा बडी अनन्त।
Omprakash Sharma
अब महान हो गए
अब महान हो गए
विक्रम कुमार
सोने को जमीं,ओढ़ने को आसमान रखिए
सोने को जमीं,ओढ़ने को आसमान रखिए
Anil Mishra Prahari
नफ़रत के सौदागर
नफ़रत के सौदागर
Shekhar Chandra Mitra
ठिठुरन
ठिठुरन
Mahender Singh
वह मुस्कुराते हुए पल मुस्कुराते
वह मुस्कुराते हुए पल मुस्कुराते
goutam shaw
भाव
भाव
Sanjay ' शून्य'
ये गजल नही मेरा प्यार है
ये गजल नही मेरा प्यार है
Basant Bhagawan Roy
बड़े लोग क्रेडिट देते है
बड़े लोग क्रेडिट देते है
Amit Pandey
"भूल जाना ही बेहतर है"
Dr. Kishan tandon kranti
"रात का मिलन"
Ekta chitrangini
व्यथा दिल की
व्यथा दिल की
Devesh Bharadwaj
मुक्तक
मुक्तक
कृष्णकांत गुर्जर
वक्त
वक्त
Ramswaroop Dinkar
सफ़र ज़िंदगी का आसान कीजिए
सफ़र ज़िंदगी का आसान कीजिए
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
*आई गंगा स्वर्ग से, उतर हिमालय धाम (कुंडलिया)*
*आई गंगा स्वर्ग से, उतर हिमालय धाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
सावन‌ आया
सावन‌ आया
Neeraj Agarwal
परिदृश्य
परिदृश्य
Shyam Sundar Subramanian
प्रभु श्री राम
प्रभु श्री राम
Mamta Singh Devaa
2998.*पूर्णिका*
2998.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मैंने जला डाली आज वह सारी किताबें गुस्से में,
मैंने जला डाली आज वह सारी किताबें गुस्से में,
Vishal babu (vishu)
चौमासा विरहा
चौमासा विरहा
लक्ष्मी सिंह
मत पूछो मुझ पर  क्या , क्या  गुजर रही
मत पूछो मुझ पर क्या , क्या गुजर रही
श्याम सिंह बिष्ट
Loading...