Sep 28, 2016 · 1 min read

दुःखो की मारी औरत(कविता)

दुखो की मारी औरत/मंदीप

कवि को बेसहारा औरत मिलती है और क्या बात होती है—–

रे बेसहारा औरत तू क्यों रहो रही है,
तेरे आँसु क्यों नही रुक रहे,ऐसी क्या बात हुई है।

क्यों तेरा रूप फीका हुआ है,क्यों हो रही आँखे लाल,
एक बार बोल तू क्या है तेरे दिल में मलाल।

कुछ तो बुरा हुआ है ऐसे नही हुई आँखे तेरी लाल।
सुबक सुबक कर ऐसे नही हुआ तेरे यो का बुरा हाल।

साफ साफ दिख रहा तू किस्मत की है मरी,
क्यों हाल ऐसा तेरा हुआ लगता तू अपने आप से है हारी।

हे कविराज ….

अब दिन रात लगे एक समान,
कैसे करूँ मै मेरी कहानी का बखान।

मै बेसहारा किस्मत की मरी हूँ,
मै भगवान के हाथो हारी हूँ।

मै पूजा करती उसकी दिन रात उसने मेरे साथ क्या किया,
बरी जवानी में उस ने मेरा सब कुछ छिन लिया।

भुखी रहती अच्छा जीवन साथी पाने के लिए,
अब मिल गया तूने उस को अब मुझ से छिन लिया।

अब ना जीने की इच्छा रही मुझे भी बुला ले,
अगर तेरे मन में कुछ बाकि है तू मुझे उठा ले।

अब बिता समय मै सब बुल गई,
मेरी सारी ख़ुशी भगवान तेरे हाथो झूल गई।

सुनी मांग देख भगवान हो गई तेरे मन में शान्ति,
आज के बात मै तुम हो ये कभी नही मानती।

जाते जाते दो फूल मेरी जोली में डाल दीये,
अब बस दुआ है उन का जीवन सुदार दीये।

मंदीपसाई

2 Comments · 466 Views
You may also like:
सत्य भाष
AJAY AMITABH SUMAN
मौत ने कुछ बिगाड़ा नहीं
अरशद रसूल /Arshad Rasool
"ज़िंदगी अगर किताब होती"
पंकज कुमार "कर्ण"
श्रीराम धरा पर आए थे
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मतदान का दौर
Anamika Singh
नई लीक....
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
घातक शत्रु
AMRESH KUMAR VERMA
वो कली मासूम
सूर्यकांत द्विवेदी
वर्तमान परिवेश और बच्चों का भविष्य
Mahender Singh Hans
नई तकदीर
मनोज कर्ण
पापा
Nitu Sah
💐ये मेरी आशिकी💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ग़ज़ल
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
【20】 ** भाई - भाई का प्यार खो गया **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
तेरे रोने की आहट उसको भी सोने नहीं देती होगी
Krishan Singh
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
मजदूर की अंतर्व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
संकोच - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
महान गुरु श्री रामकृष्ण परमहंस की काव्यमय जीवनी (पुस्तक-समीक्षा)
Ravi Prakash
तेरा यह आईना
gurudeenverma198
🍀🌺प्रेम की राह पर-43🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ये जिंदगी एक उलझी पहेली
VINOD KUMAR CHAUHAN
आध्यात्मिक गंगा स्नान
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हिन्दुस्तान की पहचान(मुक्तक)
Prabhudayal Raniwal
अखबार ए खास
AJAY AMITABH SUMAN
आंखों में तुम मेरी सांसों में तुम हो
VINOD KUMAR CHAUHAN
दोहे
सूर्यकांत द्विवेदी
आह! 14 फरवरी को आई और 23 फरवरी को चली...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
वार्तालाप….
Piyush Goel
લંબાવને 'તું' તારો હાથ 'મારા' હાથમાં...
Dr. Alpa H.
Loading...