Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Nov 2016 · 1 min read

दीप

फूलों की चुन कलिया
प्यार की गूथू
मै माला.
शूलों की चुन बाती
प्यार का जलाऊ
मै दीप.

लकशमी गणेश सरस्वती
पवित्र बसे सदा
मन आगन.
प्यार सनेह प्रेम की
ज्योति जले सब
आगन.

Language: Hindi
71 Likes · 386 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR.MDHU TRIVEDI
View all
You may also like:
आँख
आँख
विजय कुमार अग्रवाल
शिछा-दोष
शिछा-दोष
Bodhisatva kastooriya
1 jan 2023
1 jan 2023
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
■ आज का शेर
■ आज का शेर
*Author प्रणय प्रभात*
मैथिल ब्राह्मण महासभामे मैथिली वहिष्कार, संस्कृत भाषाके सम्मान !
मैथिल ब्राह्मण महासभामे मैथिली वहिष्कार, संस्कृत भाषाके सम्मान !
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
हमसफ़र
हमसफ़र
अखिलेश 'अखिल'
उसको फिर उसका
उसको फिर उसका
Dr fauzia Naseem shad
नाम दोहराएंगे
नाम दोहराएंगे
Dr.Priya Soni Khare
कविता
कविता
Rambali Mishra
स्वागत है इस नूतन का यह वर्ष सदा सुखदायक हो।
स्वागत है इस नूतन का यह वर्ष सदा सुखदायक हो।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
2389.पूर्णिका
2389.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*टैगोर काव्य गोष्ठी/ संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ*
*टैगोर काव्य गोष्ठी/ संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ*
Ravi Prakash
नारी वेदना के स्वर
नारी वेदना के स्वर
Shyam Sundar Subramanian
"बेटा-बेटी"
पंकज कुमार कर्ण
पेड़ से कौन बाते करता है ।
पेड़ से कौन बाते करता है ।
Buddha Prakash
फिर एक समस्या
फिर एक समस्या
A🇨🇭maanush
हमारा फ़र्ज
हमारा फ़र्ज
Rajni kapoor
सुनी चेतना की नहीं,
सुनी चेतना की नहीं,
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
💐प्रेम कौतुक-268💐
💐प्रेम कौतुक-268💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ज़मी के मुश्किलो ने घेरा तो दूर अपने साये हो गए ।
ज़मी के मुश्किलो ने घेरा तो दूर अपने साये हो गए ।
'अशांत' शेखर
हम गांव वाले है जनाब...
हम गांव वाले है जनाब...
AMRESH KUMAR VERMA
जब तुम एक बड़े मकसद को लेकर चलते हो तो छोटी छोटी बाधाएं तुम्
जब तुम एक बड़े मकसद को लेकर चलते हो तो छोटी छोटी बाधाएं तुम्
Drjavedkhan
* कैसे अपना प्रेम बुहारें *
* कैसे अपना प्रेम बुहारें *
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
कब तक कौन रहेगा साथी
कब तक कौन रहेगा साथी
Ramswaroop Dinkar
संघर्ष से‌ लड़ती
संघर्ष से‌ लड़ती
Arti Bhadauria
वो वक्त कब आएगा
वो वक्त कब आएगा
Harminder Kaur
हमने किस्मत से आँखें लड़ाई मगर
हमने किस्मत से आँखें लड़ाई मगर
VINOD CHAUHAN
सुवह है राधे शाम है राधे   मध्यम  भी राधे-राधे है
सुवह है राधे शाम है राधे मध्यम भी राधे-राधे है
Anand.sharma
बुश का बुर्का
बुश का बुर्का
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
इक अजीब सी उलझन है सीने में
इक अजीब सी उलझन है सीने में
करन ''केसरा''
Loading...