Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jun 2023 · 1 min read

— दिव्यांग —

पत्नी लाचार कि चल नहीं सकती
पति अपनी आँखों से लाचार है
हाथो में है विरासत कल की
न जाने किस का कौन तलबगार है ??

एक दुप्पटे के सहारे पत्नी संग
रास्ते को मिलकर तय कर रहे
कितना है अटूट विश्वाश दोनों का
मिलकर जीवन का सफर काट रहे !!

इक सबक दे रहे हैं आँखों पैरों वालों को
लिव इन रिलेशन से जो जिस्म खा रहे
हम दोनो कहीं से कहीं तक दिव्यांग नहीं
ऐसा सन्देश सारे समाज को पहुंचा रहे !!

किस तह तक पहुँच गया है समाज
खुली आँखों से प्रेम को गर्त में पहुंचा रहे
पल में काट कर , नोच कर, जिस्म को
अपनी हवस मिटा कर पल में उड़ा रहे !!

सीखो अगर सीखना है इन दोनों से
प्रेम की असली परीक्षा क्या होती है
पल में छोड़ सकते थे हाथ इक दूजे का
पर नहीं , जीवन जीना यह सीखा रहे !!

अजीत कुमार तलवार
मेरठ

Language: Hindi
3 Likes · 2 Comments · 461 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
View all
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-258💐
💐प्रेम कौतुक-258💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
प्रकृति का बलात्कार
प्रकृति का बलात्कार
Atul "Krishn"
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
पत्नी रुष्ट है
पत्नी रुष्ट है
Satish Srijan
गुलाब
गुलाब
Satyaveer vaishnav
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
Ravi Prakash
हे कान्हा
हे कान्हा
Mukesh Kumar Sonkar
"खुद के खिलाफ़"
Dr. Kishan tandon kranti
आखिर क्या कमी है मुझमें......??
आखिर क्या कमी है मुझमें......??
Keshav kishor Kumar
आस
आस
Shyam Sundar Subramanian
महावीर उत्तरांचली आप सभी के प्रिय कवि
महावीर उत्तरांचली आप सभी के प्रिय कवि
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
शस्त्र संधान
शस्त्र संधान
Ravi Shukla
One day you will realized that happiness was never about fin
One day you will realized that happiness was never about fin
पूर्वार्थ
वहाॅं कभी मत जाईये
वहाॅं कभी मत जाईये
Paras Nath Jha
हर एक रास्ते की तकल्लुफ कौन देता है..........
हर एक रास्ते की तकल्लुफ कौन देता है..........
कवि दीपक बवेजा
फ्लाइंग किस और धूम्रपान
फ्लाइंग किस और धूम्रपान
Dr. Harvinder Singh Bakshi
జయ శ్రీ రామ...
జయ శ్రీ రామ...
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
कर सत्य की खोज
कर सत्य की खोज
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
तेरी यादों को रखा है सजाकर दिल में कुछ ऐसे
तेरी यादों को रखा है सजाकर दिल में कुछ ऐसे
Shweta Soni
ओ लहर बहती रहो …
ओ लहर बहती रहो …
Rekha Drolia
धरती पर स्वर्ग
धरती पर स्वर्ग
Dr. Pradeep Kumar Sharma
खिलेंगे फूल राहों में
खिलेंगे फूल राहों में
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दोहा मुक्तक
दोहा मुक्तक
sushil sarna
Tajposhi ki rasam  ho rhi hai
Tajposhi ki rasam ho rhi hai
Sakshi Tripathi
विजयी
विजयी
Raju Gajbhiye
भेड़चाल
भेड़चाल
Dr fauzia Naseem shad
इन आँखों में इतनी सी नमी रह गई।
इन आँखों में इतनी सी नमी रह गई।
लक्ष्मी सिंह
गुम सूम क्यूँ बैठी हैं जरा ये अधर अपने अलग कीजिए ,
गुम सूम क्यूँ बैठी हैं जरा ये अधर अपने अलग कीजिए ,
Sukoon
"मेरी जिम्मेदारी "
Pushpraj Anant
बढ़ने वाला बढ़ रहा, तू यूं ही सोता रह...
बढ़ने वाला बढ़ रहा, तू यूं ही सोता रह...
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...