Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Nov 2023 · 1 min read

दिवाली त्योहार का महत्व

दिवाली त्योहार का वैज्ञानिक महत्व
==================…
मानव जीवन में त्योहारों का एक विशेष महत्व है,
तो आइये हम जाने त्योहारों का राजा देवारी दिवाली का वैज्ञानिक महत्व है।
1,, चार माह अर्थात पुरे वर्षा ऋतु में,वर्षा के कारण घरों की साफ सफाई नहीं हुआ रहता,घर टुट फुट गया रहता है,जिसकी मरम्मत एवं साफ सफाई का होना।
2,, अंधकार में दीप प्रज्ज्वलित करने से
अंधकार तो नष्ट होता ही है साथ ही कीड़े मकोड़े दीप में आकर भस्म हो जाते हैं।
3,,वर्षा ऋतु में जहरीला सर्प या जहरीला जानवर जो गांव गली में जो आ जाया रहता है,वो फटाके की आवाज से पुनः अपने स्थायी निवास की ओर प्रवेश कर जाता है।
4,, दिवाली पर दीप जलाने से वर्षा काल में नियमित सुर्योदय न होने से विषाक्त विषाणु का बढ़ जाना होता है जो जलकर नष्ट होता है और वातावरण शुद्ध होता है।

धन्यवाद
डॉ विजय कुमार कन्नौजे अमोदी आरंग ज़िला रायपुर छ ग

Language: Hindi
1 Like · 101 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जेठ का महीना
जेठ का महीना
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
नहले पे दहला
नहले पे दहला
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ग़रीबी भरे बाजार मे पुरुष को नंगा कर देती है
ग़रीबी भरे बाजार मे पुरुष को नंगा कर देती है
शेखर सिंह
शब्द : एक
शब्द : एक
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
2479.पूर्णिका
2479.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
अरविंद पासवान की कविताओं में दलित अनुभूति// आनंद प्रवीण
अरविंद पासवान की कविताओं में दलित अनुभूति// आनंद प्रवीण
आनंद प्रवीण
आदमी के नयन, न कुछ चयन कर सके
आदमी के नयन, न कुछ चयन कर सके
सिद्धार्थ गोरखपुरी
"सत्य अमर है"
Ekta chitrangini
तख्तापलट
तख्तापलट
Shekhar Chandra Mitra
Where is love?
Where is love?
Otteri Selvakumar
हंस के 2019 वर्ष-अंत में आए दलित विशेषांकों का एक मुआयना / musafir baitha
हंस के 2019 वर्ष-अंत में आए दलित विशेषांकों का एक मुआयना / musafir baitha
Dr MusafiR BaithA
दीदी
दीदी
Madhavi Srivastava
"अकेलापन"
Pushpraj Anant
जल से निकली जलपरी
जल से निकली जलपरी
लक्ष्मी सिंह
*कर्मों का लेखा रखते हैं, चित्रगुप्त महाराज (गीत)*
*कर्मों का लेखा रखते हैं, चित्रगुप्त महाराज (गीत)*
Ravi Prakash
दोहा त्रयी. . . .
दोहा त्रयी. . . .
sushil sarna
ऐसे हैं हम तो, और सच भी यही है
ऐसे हैं हम तो, और सच भी यही है
gurudeenverma198
फूल और तुम
फूल और तुम
Sidhant Sharma
आम आदमी
आम आदमी
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
एक बंदर
एक बंदर
Harish Chandra Pande
स्वास विहीन हो जाऊं
स्वास विहीन हो जाऊं
Ravi Ghayal
बसंत
बसंत
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
आपकी सोच जैसी होगी
आपकी सोच जैसी होगी
Dr fauzia Naseem shad
" जलचर प्राणी "
Dr Meenu Poonia
"अजीब दौर"
Dr. Kishan tandon kranti
हिंदी दोहा बिषय- बेटी
हिंदी दोहा बिषय- बेटी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
तुंग द्रुम एक चारु 🌿☘️🍁☘️
तुंग द्रुम एक चारु 🌿☘️🍁☘️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
दोहे
दोहे
अशोक कुमार ढोरिया
परिसर खेल का हो या दिल का,
परिसर खेल का हो या दिल का,
पूर्वार्थ
Loading...