Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 May 2023 · 1 min read

दिल में उम्मीदों का चराग़ लिए

दिल में उम्मीदों का चराग़ लिए
कोई जल गया किसी के लिए कोई बुझ गया किसी के लिए

कौन रहता है यहाँ इत्मिनान से यारों
कोई जीता है किसी के लिए कोई मरता है किसी के लिए

भरा है समंदर मगर किस काम का
कोई प्यासा रहा एक बूँद के लिए कोई डूब गया सदा के लिए

कमाया खूब दौलत और सुकून न मिला
कोई मिट गया ईमान के लिए तो कोई बिक गया खुदी के लिए

ये दुनिया है ऐसा ही यहाँ होता है
कोई रोता है किसी के लिए तो कोई रोता है किसी के लिए

_ सुलेखा.

449 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ग़ज़ल-दर्द पुराने निकले
ग़ज़ल-दर्द पुराने निकले
Shyam Vashishtha 'शाहिद'
जब कोई साथ नहीं जाएगा
जब कोई साथ नहीं जाएगा
KAJAL NAGAR
2948.*पूर्णिका*
2948.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
लावनी
लावनी
Dr. Kishan tandon kranti
भिनसार हो गया
भिनसार हो गया
Satish Srijan
साड़ी हर नारी की शोभा
साड़ी हर नारी की शोभा
ओनिका सेतिया 'अनु '
बुद्ध की राह में चलने लगे ।
बुद्ध की राह में चलने लगे ।
Buddha Prakash
#अहसास से उपजा शेर।
#अहसास से उपजा शेर।
*प्रणय प्रभात*
कितना लिखता जाऊँ ?
कितना लिखता जाऊँ ?
The_dk_poetry
*नज़्म*
*नज़्म*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
*चमचागिरी महान (हास्य-कुंडलिया)*
*चमचागिरी महान (हास्य-कुंडलिया)*
Ravi Prakash
कुछ चूहे थे मस्त बडे
कुछ चूहे थे मस्त बडे
Vindhya Prakash Mishra
मैं इस दुनिया का सबसे बुरा और मुर्ख आदमी हूँ
मैं इस दुनिया का सबसे बुरा और मुर्ख आदमी हूँ
Jitendra kumar
दहेज.... हमारी जरूरत
दहेज.... हमारी जरूरत
Neeraj Agarwal
* मुक्तक *
* मुक्तक *
surenderpal vaidya
सूरज - चंदा
सूरज - चंदा
Prakash Chandra
ना तुमसे बिछड़ने का गम है......
ना तुमसे बिछड़ने का गम है......
Ashish shukla
यदि है कोई परे समय से तो वो तो केवल प्यार है
यदि है कोई परे समय से तो वो तो केवल प्यार है " रवि " समय की रफ्तार मेँ हर कोई गिरफ्तार है
Sahil Ahmad
फितरत अमिट जन एक गहना🌷🌷
फितरत अमिट जन एक गहना🌷🌷
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
"सम्मान व संस्कार व्यक्ति की मृत्यु के बाद भी अस्तित्व में र
डॉ कुलदीपसिंह सिसोदिया कुंदन
*कृष्ण की दीवानी*
*कृष्ण की दीवानी*
Shashi kala vyas
*Khus khvab hai ye jindagi khus gam ki dava hai ye jindagi h
*Khus khvab hai ye jindagi khus gam ki dava hai ye jindagi h
Vicky Purohit
ईश्वर
ईश्वर
Shyam Sundar Subramanian
बोल दे जो बोलना है
बोल दे जो बोलना है
Monika Arora
स्वयं का न उपहास करो तुम , स्वाभिमान की राह वरो तुम
स्वयं का न उपहास करो तुम , स्वाभिमान की राह वरो तुम
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
★साथ तेरा★
★साथ तेरा★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
गाँधी हमेशा जिंदा है
गाँधी हमेशा जिंदा है
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
एक एहसास
एक एहसास
Dr fauzia Naseem shad
अहसास तेरे....
अहसास तेरे....
Santosh Soni
होली कान्हा संग
होली कान्हा संग
Kanchan Khanna
Loading...