Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Aug 2022 · 1 min read

दिलों का हाल तु खूब समझता है

ख़ुशबू सा चारों ओर महकता है
दिलों का हाल तु खूब समझता है।

आंसुओ का तु हिसाब रखता है
पूरे जीवन का किताब रखता है
एक -एक पल की खबर है तुझे
जमीन आसमान का नजर है तुझे

बैचैन दिल दिन – रात मचलता है
दिलों का हाल तु खूब समझता है।

ख़ामोश लबों की आहें सुनता है
बेबसों की राहों के कांटे चुनता है
नींदों में सुहाने सपने दिखाए
बहाने से मंजिलों तक पहुंचाए

मजबूरियों में इंसान बहकता है
दिलों का हाल तु खूब समझता है।

दुःख से इंसान को उबारता है
बिगड़े कामों को संवारता है
उम्मीद की किरन दिखाता है
कभी हंसाता कभी रूलाता है

हालात तेरी रहमतों से बदलता है
दिलों का हाल तु खूब समझता है।

नूर फातिमा खातून” नूरी”
जिला कुशीनगर
उत्तर प्रदेश

Language: Hindi
216 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*चंदा दल को दीजिए, काला धन साभार (व्यंग्य कुंडलिया)*
*चंदा दल को दीजिए, काला धन साभार (व्यंग्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
जिंदगी की कहानी लिखने में
जिंदगी की कहानी लिखने में
Shweta Soni
अहमियत
अहमियत
Dr fauzia Naseem shad
*माना के आज मुश्किल है पर वक्त ही तो है,,
*माना के आज मुश्किल है पर वक्त ही तो है,,
Vicky Purohit
मेरे मित्र के प्रेम अनुभव के लिए कुछ लिखा है  जब उसकी प्रेमि
मेरे मित्र के प्रेम अनुभव के लिए कुछ लिखा है जब उसकी प्रेमि
पूर्वार्थ
वो अनजाना शहर
वो अनजाना शहर
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
"सुप्रभात"
Yogendra Chaturwedi
अगर आप में व्यर्थ का अहंकार है परन्तु इंसानियत नहीं है; तो म
अगर आप में व्यर्थ का अहंकार है परन्तु इंसानियत नहीं है; तो म
विमला महरिया मौज
और ज़रा भी नहीं सोचते हम
और ज़रा भी नहीं सोचते हम
Surinder blackpen
दीप जलते रहें - दीपक नीलपदम्
दीप जलते रहें - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
राजनीति में इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि क्या मूर्खता है
राजनीति में इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि क्या मूर्खता है
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
* आओ ध्यान करें *
* आओ ध्यान करें *
surenderpal vaidya
All your thoughts and
All your thoughts and
Dhriti Mishra
कठिन समय रहता नहीं
कठिन समय रहता नहीं
Atul "Krishn"
याद आए दिन बचपन के
याद आए दिन बचपन के
Manu Vashistha
वोट कर!
वोट कर!
Neelam Sharma
दूरदर्शिता~
दूरदर्शिता~
दिनेश एल० "जैहिंद"
घुंटन जीवन का🙏
घुंटन जीवन का🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
क्यूट हो सुंदर हो प्यारी सी लगती
क्यूट हो सुंदर हो प्यारी सी लगती
Jitendra Chhonkar
बात खो गई
बात खो गई
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
3322.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3322.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
कौन हूं मैं?
कौन हूं मैं?
Rachana
आज के जमाने में
आज के जमाने में
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
*श्रीराम*
*श्रीराम*
Dr. Priya Gupta
"मतलब समझाना
*प्रणय प्रभात*
New Love
New Love
Vedha Singh
मुस्कुराना चाहता हूं।
मुस्कुराना चाहता हूं।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
अभिमानी सागर कहे, नदिया उसकी धार।
अभिमानी सागर कहे, नदिया उसकी धार।
Suryakant Dwivedi
खुशी की तलाश
खुशी की तलाश
Sandeep Pande
Agar tum Ladka hoti to Khush Rah paati kya?....
Agar tum Ladka hoti to Khush Rah paati kya?....
HEBA
Loading...