Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jul 2016 · 1 min read

*दर्द*

आधार छंद =आनंदवर्धक
मापनी =2122 2122 212
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
दर्द में भी मुस्कुराना आ गया
आँख में आँसू छिपाना आ गया
~~~~~~~~~~~~~~~~~
नफरतों को दिल ‘से ‘सारी भूल कर
प्रीत के ही गीत गाना आ गया
~~~~~~~~~~~~~~~~
बचपनों की देख कर अठखेलियाँ
याद फिर गु़जरा जमाना आ गया
~~~~~~~~~~~~~~~~~
उलझनें दिल से हमारे मिट गयी
आज फिर मौसम सुहाना आ गया ~~~~~~~~~~~~~~~~~
ज़िंदगी में अब नहीँ हैं आंधियाँ
मुश्किलों से पार पाना आ गया

1 Comment · 461 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
चल सतगुर के द्वार
चल सतगुर के द्वार
Satish Srijan
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
हंसकर मुझे तू कर विदा
हंसकर मुझे तू कर विदा
gurudeenverma198
भँवर में जब कभी भी सामना मझदार का होना
भँवर में जब कभी भी सामना मझदार का होना
अंसार एटवी
"याद रहे"
Dr. Kishan tandon kranti
आंखों को मल गए
आंखों को मल गए
Dr fauzia Naseem shad
2839.*पूर्णिका*
2839.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
किस्मत की लकीरें
किस्मत की लकीरें
Dr Parveen Thakur
घाघरा खतरे के निशान से ऊपर
घाघरा खतरे के निशान से ऊपर
Ram Krishan Rastogi
■ किसी की चाल या ख़ुद की चालबाज़ी...?
■ किसी की चाल या ख़ुद की चालबाज़ी...?
*Author प्रणय प्रभात*
* सोमनाथ के नव-निर्माता ! तुमको कोटि प्रणाम है 【गीत】*
* सोमनाथ के नव-निर्माता ! तुमको कोटि प्रणाम है 【गीत】*
Ravi Prakash
मैं लिखूंगा तुम्हें
मैं लिखूंगा तुम्हें
हिमांशु Kulshrestha
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
ଆପଣ କିଏ??
ଆପଣ କିଏ??
Otteri Selvakumar
समाज सेवक पुर्वज
समाज सेवक पुर्वज
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
अमर स्वाधीनता सैनानी डॉ. राजेन्द्र प्रसाद
अमर स्वाधीनता सैनानी डॉ. राजेन्द्र प्रसाद
कवि रमेशराज
अंतिम सत्य
अंतिम सत्य
विजय कुमार अग्रवाल
प्रथम मिलन
प्रथम मिलन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
चींटी रानी
चींटी रानी
Dr Archana Gupta
क्यूं हो शामिल ,प्यासों मैं हम भी //
क्यूं हो शामिल ,प्यासों मैं हम भी //
गुप्तरत्न
मन्नत के धागे
मन्नत के धागे
Dr. Mulla Adam Ali
*Max Towers in Sector 16B, Noida: A Premier Business Hub 9899920149*
*Max Towers in Sector 16B, Noida: A Premier Business Hub 9899920149*
Juhi Sulemani
ग़ज़ल/नज़्म: एक तेरे ख़्वाब में ही तो हमने हजारों ख़्वाब पाले हैं
ग़ज़ल/नज़्म: एक तेरे ख़्वाब में ही तो हमने हजारों ख़्वाब पाले हैं
अनिल कुमार
सुख दुःख मनुष्य का मानस पुत्र।
सुख दुःख मनुष्य का मानस पुत्र।
लक्ष्मी सिंह
अगर हो हिंदी का देश में
अगर हो हिंदी का देश में
Dr Manju Saini
कोई इतना नहीं बलवान
कोई इतना नहीं बलवान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
डाकिया डाक लाया
डाकिया डाक लाया
Paras Nath Jha
शेरे-पंजाब
शेरे-पंजाब
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
उदर क्षुधा
उदर क्षुधा
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
Save water ! Without water !
Save water ! Without water !
Buddha Prakash
Loading...