Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Feb 2023 · 1 min read

“त्रिशूल”

“त्रिशूल”
लगता यह पतित पावनी गंगा
है त्रिशूल से डरती,
तभी तो आकर पास मेरे
स्नेह नहीं करती,
अशिक्षा असमानता अन्याय के
चुभते शूलों को सहकर
आज तलक जिन्दा हूँ मैं,
गंगा जहाँ बहती वहीं का
एक रहवासी बन्दा हूँ मैं।

8 Likes · 2 Comments · 188 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
समकालीन हिंदी कविता का परिदृश्य
समकालीन हिंदी कविता का परिदृश्य
Dr. Pradeep Kumar Sharma
.
.
Amulyaa Ratan
दुनिया की आख़िरी उम्मीद हैं बुद्ध
दुनिया की आख़िरी उम्मीद हैं बुद्ध
Shekhar Chandra Mitra
All your thoughts and
All your thoughts and
Dhriti Mishra
देखिए खूबसूरत हुई भोर है।
देखिए खूबसूरत हुई भोर है।
surenderpal vaidya
जिंदगी कंही ठहरी सी
जिंदगी कंही ठहरी सी
A🇨🇭maanush
*छह माह (बाल कविता)*
*छह माह (बाल कविता)*
Ravi Prakash
नारी क्या है
नारी क्या है
Ram Krishan Rastogi
जीवन के सफ़र में
जीवन के सफ़र में
Surinder blackpen
"ताकीद"
Dr. Kishan tandon kranti
अहा! जीवन
अहा! जीवन
Punam Pande
रात निकली चांदनी संग,
रात निकली चांदनी संग,
manjula chauhan
एक पल में जिंदगी तू क्या से क्या बना दिया।
एक पल में जिंदगी तू क्या से क्या बना दिया।
Phool gufran
कुर्सी
कुर्सी
Bodhisatva kastooriya
23/184.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/184.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
तू है तसुव्वर में तो ए खुदा !
तू है तसुव्वर में तो ए खुदा !
ओनिका सेतिया 'अनु '
Mere papa
Mere papa
Aisha Mohan
हंसगति
हंसगति
डॉ.सीमा अग्रवाल
प्रस्तुति : ताटक छंद
प्रस्तुति : ताटक छंद
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
" रहना तुम्हारे सँग "
DrLakshman Jha Parimal
क़ाबिल नहीं जो उनपे लुटाया न कीजिए
क़ाबिल नहीं जो उनपे लुटाया न कीजिए
Shweta Soni
#देकर_दगा_सभी_को_नित_खा_रहे_मलाई......!!
#देकर_दगा_सभी_को_नित_खा_रहे_मलाई......!!
संजीव शुक्ल 'सचिन'
*बादल*
*बादल*
Santosh kumar Miri
"जिसे जो आएगा, वो ही करेगा।
*Author प्रणय प्रभात*
देश और जनता~
देश और जनता~
दिनेश एल० "जैहिंद"
वाणी
वाणी
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
नेम प्रेम का कर ले बंधु
नेम प्रेम का कर ले बंधु
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बिखरे सपनों की ताबूत पर, दो कील तुम्हारे और सही।
बिखरे सपनों की ताबूत पर, दो कील तुम्हारे और सही।
Manisha Manjari
मेरा गांव
मेरा गांव
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
कुछ यूं मेरा इस दुनिया में,
कुछ यूं मेरा इस दुनिया में,
Lokesh Singh
Loading...