Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Sep 2016 · 1 min read

तेरी सासों से मेरी सासे मिल जाये(गज़ल)

तेरी सासों से मेरी सासे मिल जाये/मंदीप

तेरी सासों से मेरी सासे मिल जाये ,
मेरी रूह को तेरी रूह की पहना मिल जाये।।

आ जाओ अजीज मेरे इतने करीब,
तेरी धडकन मेरी धडकन मिलकर एक हो जाये।।

रहना करीब तुम दिल के सदा मेरे,
तेरी खुसबू मेरे अन्दर रम जाऐ।।

रहना तुम सदा मेरे करीब हमसफर बनकर,
जब भी मेरी आँखे बन्द हो तो तुम मिल जाये।।

जीना है”मंदीप्” ने उसके साथ ,
करो दूरियों को कम अब एक हो जाय।।

मंदीपसाई

1 Comment · 378 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नमन सभी शिक्षकों को, शिक्षक दिवस की बधाई 🎉
नमन सभी शिक्षकों को, शिक्षक दिवस की बधाई 🎉
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नहीं मैं ऐसा नहीं होता
नहीं मैं ऐसा नहीं होता
gurudeenverma198
पढ़िए ! पुस्तक : कब तक मारे जाओगे पर चर्चित साहित्यकार श्री सूरजपाल चौहान जी के विचार।
पढ़िए ! पुस्तक : कब तक मारे जाओगे पर चर्चित साहित्यकार श्री सूरजपाल चौहान जी के विचार।
Dr. Narendra Valmiki
*क्या देखते हो *
*क्या देखते हो *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
उनकी तोहमत हैं, मैं उनका ऐतबार नहीं हूं।
उनकी तोहमत हैं, मैं उनका ऐतबार नहीं हूं।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
"रामनवमी पर्व 2023"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
💐💐मेरा इश्क़ बे-ग़रज़ नहीं है💐💐
💐💐मेरा इश्क़ बे-ग़रज़ नहीं है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
BUTTERFLIES
BUTTERFLIES
Dhriti Mishra
तुम अभी आना नहीं।
तुम अभी आना नहीं।
Taj Mohammad
एक लेख...…..बेटी के साथ
एक लेख...…..बेटी के साथ
Neeraj Agarwal
RATHOD SRAVAN WAS GREAT HONORED
RATHOD SRAVAN WAS GREAT HONORED
राठौड़ श्रावण लेखक, प्रध्यापक
हिन्द का बेटा हूँ
हिन्द का बेटा हूँ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कौन सुनेगा बात हमारी
कौन सुनेगा बात हमारी
Surinder blackpen
*विभाजन-विभीषिका : दस दोहे*
*विभाजन-विभीषिका : दस दोहे*
Ravi Prakash
हौसला
हौसला
डॉ. शिव लहरी
हमेशा तेरी याद में
हमेशा तेरी याद में
Dr fauzia Naseem shad
उनसे कहना अभी मौत से डरा नहीं हूं मैं
उनसे कहना अभी मौत से डरा नहीं हूं मैं
Phool gufran
#मुक्तक-
#मुक्तक-
*Author प्रणय प्रभात*
कोयल कूके
कोयल कूके
Vindhya Prakash Mishra
- दीवारों के कान -
- दीवारों के कान -
bharat gehlot
!! यह तो सर गद्दारी है !!
!! यह तो सर गद्दारी है !!
Chunnu Lal Gupta
My City
My City
Aman Kumar Holy
Tumhari sasti sadak ki mohtaz nhi mai,
Tumhari sasti sadak ki mohtaz nhi mai,
Sakshi Tripathi
हैवानियत के पाँव नहीं होते!
हैवानियत के पाँव नहीं होते!
Atul "Krishn"
समीक्ष्य कृति: बोल जमूरे! बोल
समीक्ष्य कृति: बोल जमूरे! बोल
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
खूबसूरत है दुनियां _ आनंद इसका लेना है।
खूबसूरत है दुनियां _ आनंद इसका लेना है।
Rajesh vyas
पत्नीजी मायके गयी,
पत्नीजी मायके गयी,
Satish Srijan
जब कभी मन हारकर के,या व्यथित हो टूट जाए
जब कभी मन हारकर के,या व्यथित हो टूट जाए
Yogini kajol Pathak
रात का आलम था और ख़ामोशियों की गूंज थी
रात का आलम था और ख़ामोशियों की गूंज थी
N.ksahu0007@writer
जीवन में उन सपनों का कोई महत्व नहीं,
जीवन में उन सपनों का कोई महत्व नहीं,
Shubham Pandey (S P)
Loading...