Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 May 2018 · 1 min read

तेरी मांग में सिंदूर सजा दूँ क्या

तेरे पैरों में पायल पहना दूँ क्या
हाथों में कंगना खनका दूँ क्या

सोलह बरस की हो चली अब
तेरी माँग में सिंदूर सजा दूँ क्या

दिल का मंदिर खाली-खाली है
उसमे तेरी मूरत लगा दूँ क्या

तन्हा रहना अच्छा नहीं है और
मेरे घर पर बात पहुँचा दूँ क्या

माँ सपने देखती है परियों के
तू कहे तो तस्वीर दिखा दूँ क्या

सोचता है हर पल तुम्हें ,राज,
ये छुपा राज सबको सुना दूँ क्या

राज स्वामी

1 Like · 268 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
फितरत
फितरत
Ravi Prakash
एक मोम-सी लड़की रहती थी मेरे भीतर कभी,
एक मोम-सी लड़की रहती थी मेरे भीतर कभी,
ओसमणी साहू 'ओश'
दिल की आवाज़
दिल की आवाज़
Dipak Kumar "Girja"
खामोस है जमीं खामोस आसमां ,
खामोस है जमीं खामोस आसमां ,
Neeraj Mishra " नीर "
याद करने के लिए बस यारियां रह जाएंगी।
याद करने के लिए बस यारियां रह जाएंगी।
सत्य कुमार प्रेमी
* तपन *
* तपन *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
প্রতিদিন আমরা নতুন কিছু না কিছু শিখি
প্রতিদিন আমরা নতুন কিছু না কিছু শিখি
Arghyadeep Chakraborty
प्यार दीवाना ही नहीं होता
प्यार दीवाना ही नहीं होता
Dr Archana Gupta
नारी की स्वतंत्रता
नारी की स्वतंत्रता
SURYA PRAKASH SHARMA
कर लो कर्म अभी
कर लो कर्म अभी
Sonam Puneet Dubey
पीने -पिलाने की आदत तो डालो
पीने -पिलाने की आदत तो डालो
सिद्धार्थ गोरखपुरी
कभी-कभी हम निःशब्द हो जाते हैं
कभी-कभी हम निःशब्द हो जाते हैं
Harminder Kaur
Sometimes…
Sometimes…
पूर्वार्थ
कैसा जुल्म यह नारी पर
कैसा जुल्म यह नारी पर
Dr. Kishan tandon kranti
जाने क्या छुटा रहा मुझसे
जाने क्या छुटा रहा मुझसे
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
2812. *पूर्णिका*
2812. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अनिल
अनिल "आदर्श "
अनिल "आदर्श"
मैं उन लोगो में से हूँ
मैं उन लोगो में से हूँ
Dr Manju Saini
वेदना में,हर्ष  में
वेदना में,हर्ष में
Shweta Soni
डॉ. ध्रुव की दृष्टि में कविता का अमृतस्वरूप
डॉ. ध्रुव की दृष्टि में कविता का अमृतस्वरूप
कवि रमेशराज
कली से खिल कर जब गुलाब हुआ
कली से खिल कर जब गुलाब हुआ
नेताम आर सी
पंचांग के मुताबिक हर महीने में कृष्ण और शुक्ल पक्ष की त्रयोद
पंचांग के मुताबिक हर महीने में कृष्ण और शुक्ल पक्ष की त्रयोद
Shashi kala vyas
अपना सा नाइजीरिया
अपना सा नाइजीरिया
Shashi Mahajan
ग्रंथ
ग्रंथ
Tarkeshwari 'sudhi'
सुनो पहाड़ की...!!! (भाग - ९)
सुनो पहाड़ की...!!! (भाग - ९)
Kanchan Khanna
6. *माता-पिता*
6. *माता-पिता*
Dr .Shweta sood 'Madhu'
बेटियां ज़ख्म सह नही पाती
बेटियां ज़ख्म सह नही पाती
Swara Kumari arya
लाल उठो!!
लाल उठो!!
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दुनिया असाधारण लोगो को पलको पर बिठाती है
दुनिया असाधारण लोगो को पलको पर बिठाती है
ruby kumari
Loading...