Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Oct 2023 · 1 min read

तेरी दुनिया में

वक्त कोई भी क़यामत का मुकर्रर कर ले ।
तेरी दुनिया में अब इंसान कहां बसते हैं ।।
डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
7 Likes · 165 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
बहू-बेटी
बहू-बेटी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
यादों की महफिल सजी, दर्द हुए गुलजार ।
यादों की महफिल सजी, दर्द हुए गुलजार ।
sushil sarna
पुस्तक समीक्षा -राना लिधौरी गौरव ग्रंथ
पुस्तक समीक्षा -राना लिधौरी गौरव ग्रंथ
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
आमदनी ₹27 और खर्चा ₹ 29
आमदनी ₹27 और खर्चा ₹ 29
कार्तिक नितिन शर्मा
2391.पूर्णिका
2391.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
बचपन अपना अपना
बचपन अपना अपना
Sanjay ' शून्य'
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
_सुलेखा.
स्त्रीलिंग...एक ख़ूबसूरत एहसास
स्त्रीलिंग...एक ख़ूबसूरत एहसास
Mamta Singh Devaa
मायका
मायका
Mukesh Kumar Sonkar
कुछ यूं मेरा इस दुनिया में,
कुछ यूं मेरा इस दुनिया में,
Lokesh Singh
मुद्दत से संभाला था
मुद्दत से संभाला था
Surinder blackpen
आईने में देखकर खुद पर इतराते हैं लोग...
आईने में देखकर खुद पर इतराते हैं लोग...
Nitesh Kumar Srivastava
वो ओस की बूंदे और यादें
वो ओस की बूंदे और यादें
Neeraj Agarwal
अतीत कि आवाज
अतीत कि आवाज
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हिंदुस्तान जिंदाबाद
हिंदुस्तान जिंदाबाद
Mahmood Alam
दोहा छंद विधान
दोहा छंद विधान
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
*जिनसे दूर नहान, सभी का है अभिनंदन (हास्य कुंडलिया)*
*जिनसे दूर नहान, सभी का है अभिनंदन (हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
नसीब तो ऐसा है मेरा
नसीब तो ऐसा है मेरा
gurudeenverma198
मुस्कुरा देने से खुशी नहीं होती, उम्र विदा देने से जिंदगी नह
मुस्कुरा देने से खुशी नहीं होती, उम्र विदा देने से जिंदगी नह
Slok maurya "umang"
ताजा समाचार है?
ताजा समाचार है?
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
एक उम्र
एक उम्र
Rajeev Dutta
मगरूर क्यों हैं
मगरूर क्यों हैं
Mamta Rani
"सुने जो दिल की कहीं"
Dr. Kishan tandon kranti
■ मन गई राखी, लग गया चूना...😢
■ मन गई राखी, लग गया चूना...😢
*Author प्रणय प्रभात*
वो भी तन्हा रहता है
वो भी तन्हा रहता है
'अशांत' शेखर
आजादी की चाहत
आजादी की चाहत
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
उसने किरदार ठीक से नहीं निभाया अपना
उसने किरदार ठीक से नहीं निभाया अपना
कवि दीपक बवेजा
पवनसुत
पवनसुत
सिद्धार्थ गोरखपुरी
खानदानी चाहत में राहत🌷
खानदानी चाहत में राहत🌷
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Loading...