Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jul 2023 · 1 min read

*तेरा साथ (13-7-1983)*

तेरा साथ (13-7-1983)
________________________
(1)
किया था आज ही के दिन सफर हमने शुरू अपना
ये दिन तुम‌को मुबारक हो, ये दिन मुझको मुबारक हो
(2)
तुम्हारा हाथ मैने, तुमने मेरा हाथ पकड़ा था
हमारी जिन्दगी में अंक तेरह का बहुत शुभ है
(3)
जो तेरा साथ पाया तो वो दिन सचमुच सुहाना था
कलैन्डर में लिखी तारीख “तेरा सात” ही तो थी
_________________________
रचयिता :रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 99976 15451

Language: Hindi
Tag: शेर
1 Like · 191 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
*चार दिन को ही मिली है, यह गली यह घर शहर (वैराग्य गीत)*
*चार दिन को ही मिली है, यह गली यह घर शहर (वैराग्य गीत)*
Ravi Prakash
True is dark
True is dark
Neeraj Agarwal
पास तो आना- तो बहाना था
पास तो आना- तो बहाना था"
भरत कुमार सोलंकी
*श्रद्धा विश्वास रूपेण**
*श्रद्धा विश्वास रूपेण**"श्रद्धा विश्वास रुपिणौ'"*
Shashi kala vyas
पंचचामर मुक्तक
पंचचामर मुक्तक
Neelam Sharma
*स्पंदन को वंदन*
*स्पंदन को वंदन*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
गले लगा लेना
गले लगा लेना
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
सच को तमीज नहीं है बात करने की और
सच को तमीज नहीं है बात करने की और
Ranjeet kumar patre
ग़ज़ल/नज़्म - उसका प्यार जब से कुछ-कुछ गहरा हुआ है
ग़ज़ल/नज़्म - उसका प्यार जब से कुछ-कुछ गहरा हुआ है
अनिल कुमार
वैविध्यपूर्ण भारत
वैविध्यपूर्ण भारत
ऋचा पाठक पंत
अंतिम क्षण में अपना सर्वश्रेष्ठ दें।
अंतिम क्षण में अपना सर्वश्रेष्ठ दें।
Bimal Rajak
मैं सत्य सनातन का साक्षी
मैं सत्य सनातन का साक्षी
Mohan Pandey
कब मेरे मालिक आएंगे!
कब मेरे मालिक आएंगे!
Kuldeep mishra (KD)
"अंगूर"
Dr. Kishan tandon kranti
जलाना था जिस चराग़ को वो जला ना पाया,
जलाना था जिस चराग़ को वो जला ना पाया,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
प्रकृति हर पल आपको एक नई सीख दे रही है और आपकी कमियों और खूब
प्रकृति हर पल आपको एक नई सीख दे रही है और आपकी कमियों और खूब
Rj Anand Prajapati
बाबूजी
बाबूजी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
"कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा" से भी बड़ा सवाल-
*प्रणय प्रभात*
दो हज़ार का नोट
दो हज़ार का नोट
Dr Archana Gupta
"ज्यादा मिठास शक के घेरे में आती है
Priya princess panwar
चुपचाप सा परीक्षा केंद्र
चुपचाप सा परीक्षा केंद्र"
Dr Meenu Poonia
किसान भैया
किसान भैया
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
" लहर लहर लहराई तिरंगा "
Chunnu Lal Gupta
विधवा
विधवा
Acharya Rama Nand Mandal
पग पग पे देने पड़ते
पग पग पे देने पड़ते
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
बुंदेली मुकरियां
बुंदेली मुकरियां
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जो दूरियां हैं दिल की छिपाओगे कब तलक।
जो दूरियां हैं दिल की छिपाओगे कब तलक।
सत्य कुमार प्रेमी
मन में एक खयाल बसा है
मन में एक खयाल बसा है
Rekha khichi
3323.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3323.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
Temple of Raam
Temple of Raam
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
Loading...