Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Feb 2024 · 1 min read

तू ही याद आया है।

जब-जब वक्त के लम्हों ने रुलाया है।
दिल को बस इक तू ही याद आया है।।1।।

खुशियों को ना मिले मेरे घर का पता।
किस्मत ने भी हमको बड़ा सताया है।।2।।

रातभर ही कलियां भीगी शबनम से।
कायनात के ज़र्रे-ज़र्रे में नूर आया है।।3।।

हमसे ना पूछो यूं हाल इस जमीं का।
खुदा ने जब बूंद ए आब बरसाया है।।4।।

दीवानगी भी फिजाओ में घुल गई है।
गुलों ने जब गुलशन को महकाया है।।5।।

अपना हाले दिल क्या सुनाए तुमको।
तेरी यादों ने रात रात भर जगाया है।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

2 Likes · 51 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बात है तो क्या बात है,
बात है तो क्या बात है,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
जिसके पास
जिसके पास "ग़ैरत" नाम की कोई चीज़ नहीं, उन्हें "ज़लील" होने का
*Author प्रणय प्रभात*
सत्य और सत्ता
सत्य और सत्ता
विजय कुमार अग्रवाल
आपकी वजह से किसी को दर्द ना हो
आपकी वजह से किसी को दर्द ना हो
Aarti sirsat
शादाब रखेंगे
शादाब रखेंगे
Neelam Sharma
अंधा वो नहीं होता है
अंधा वो नहीं होता है
ओंकार मिश्र
आंखे, बाते, जुल्फे, मुस्कुराहटे एक साथ में ही वार कर रही हो।
आंखे, बाते, जुल्फे, मुस्कुराहटे एक साथ में ही वार कर रही हो।
Vishal babu (vishu)
कविता: माँ मुझको किताब मंगा दो, मैं भी पढ़ने जाऊंगा।
कविता: माँ मुझको किताब मंगा दो, मैं भी पढ़ने जाऊंगा।
Rajesh Kumar Arjun
धोखा था ये आंख का
धोखा था ये आंख का
RAMESH SHARMA
मेरी नन्ही परी।
मेरी नन्ही परी।
लक्ष्मी सिंह
दैनिक जीवन में सब का तू, कर सम्मान
दैनिक जीवन में सब का तू, कर सम्मान
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
इशारों इशारों में मेरा दिल चुरा लेते हो
इशारों इशारों में मेरा दिल चुरा लेते हो
Ram Krishan Rastogi
तोड़ कर खुद को
तोड़ कर खुद को
Dr fauzia Naseem shad
फूलों की है  टोकरी,
फूलों की है टोकरी,
Mahendra Narayan
*फाग का रंग : बारह दोहे*
*फाग का रंग : बारह दोहे*
Ravi Prakash
"तकलीफ़"
Dr. Kishan tandon kranti
धनमद
धनमद
Sanjay ' शून्य'
बीज और विचित्रताओं पर कुछ बात
बीज और विचित्रताओं पर कुछ बात
Dr MusafiR BaithA
जब मैं मर जाऊं तो कफ़न के जगह किताबों में लपेट देना
जब मैं मर जाऊं तो कफ़न के जगह किताबों में लपेट देना
Keshav kishor Kumar
Almost everyone regard this world as a battlefield and this
Almost everyone regard this world as a battlefield and this
Sukoon
हर सुबह जन्म लेकर,रात को खत्म हो जाती हूं
हर सुबह जन्म लेकर,रात को खत्म हो जाती हूं
Pramila sultan
Pyar ke chappu se , jindagi ka naiya par lagane chale the ha
Pyar ke chappu se , jindagi ka naiya par lagane chale the ha
Sakshi Tripathi
आजावो माँ घर,लौटकर तुम
आजावो माँ घर,लौटकर तुम
gurudeenverma198
बाबा साहब एक महान पुरुष या भगवान
बाबा साहब एक महान पुरुष या भगवान
जय लगन कुमार हैप्पी
*शिवे भक्तिः शिवे भक्तिः शिवे भक्ति  भर्वे भवे।*
*शिवे भक्तिः शिवे भक्तिः शिवे भक्ति भर्वे भवे।*
Shashi kala vyas
काले दिन ( समीक्षा)
काले दिन ( समीक्षा)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मैं पतंग, तु डोर मेरे जीवन की
मैं पतंग, तु डोर मेरे जीवन की
Swami Ganganiya
2730.*पूर्णिका*
2730.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
नदियों का एहसान
नदियों का एहसान
RAKESH RAKESH
'आभार' हिन्दी ग़ज़ल
'आभार' हिन्दी ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
Loading...