Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Nov 2023 · 1 min read

……तु कोन है मेरे लिए….

……तु कोन है मेरे लिए….

कैसे बतावू तु कोन हे मेरे लिए,
तु क्या है मेरे लिए ||

बचपन का रंगबिरंगी किस्सा है तू
दिल के करीब का हिस्सा है तु

कड़कती धूप मे छाव है तू
मेरे लिए एक हंसी शाम है तू

ऐ दोस्त! अंधेरे का उजाला है तू
दिल की खुशियों का ताला है तू

आंखों मे हर वक्त आये वह ख्वाब है तू
मेरे हर सवाल का जवाब है तू

मेरे जिवन का अनमोल खाजाना है तू
पहली मोहब्बत का फसाना है तू

ऐ दोस्त ! पतंग की डोर है तू
मेरे दिल मे बसा हुआ शोर है तू

जिंदगी जीने का सलीका सिखाया तुने
अपनी मंजिल पे चलना बताया तुने

अब कोई और नहीं तेरे दिल के सिवा
ऐ दोस्त ! मेरा आज भी तू मेरा कल भी तू
…………………………….
नौशाबा जिलानी सुरीया~

Language: Hindi
2 Likes · 172 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
फुटपाथ
फुटपाथ
Prakash Chandra
हंसी मुस्कान
हंसी मुस्कान
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
शेष कुछ
शेष कुछ
Dr.Priya Soni Khare
रोजी रोटी
रोजी रोटी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हवाएँ मस्तियाँ लाईं, ये फागुन का महीना है【 हिंदी गजल/गीतिका
हवाएँ मस्तियाँ लाईं, ये फागुन का महीना है【 हिंदी गजल/गीतिका
Ravi Prakash
हो रही बरसात झमाझम....
हो रही बरसात झमाझम....
डॉ. दीपक मेवाती
हाँ बहुत प्रेम करती हूँ तुम्हें
हाँ बहुत प्रेम करती हूँ तुम्हें
Saraswati Bajpai
ਲਿਖ ਲਿਖ ਕੇ ਮੇਰਾ ਨਾਮ
ਲਿਖ ਲਿਖ ਕੇ ਮੇਰਾ ਨਾਮ
Surinder blackpen
नवरात्र के सातवें दिन माँ कालरात्रि,
नवरात्र के सातवें दिन माँ कालरात्रि,
Harminder Kaur
💐प्रेम कौतुक-506💐
💐प्रेम कौतुक-506💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कैसा दौर है ये क्यूं इतना शोर है ये
कैसा दौर है ये क्यूं इतना शोर है ये
Monika Verma
भाथी के विलुप्ति के कगार पर होने के बहाने / MUSAFIR BAITHA
भाथी के विलुप्ति के कगार पर होने के बहाने / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
परिवर्तन जीवन का पर्याय है , उसे स्वीकारने में ही सुख है । प
परिवर्तन जीवन का पर्याय है , उसे स्वीकारने में ही सुख है । प
Leena Anand
गरीबों की शिकायत लाजमी है। अभी भी दूर उनसे रोशनी है। ❤️ अपना अपना सिर्फ करना। बताओ यह भी कोई जिंदगी है। ❤️
गरीबों की शिकायत लाजमी है। अभी भी दूर उनसे रोशनी है। ❤️ अपना अपना सिर्फ करना। बताओ यह भी कोई जिंदगी है। ❤️
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
तुलसी युग 'मानस' बना,
तुलसी युग 'मानस' बना,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नज़र का फ्लू
नज़र का फ्लू
आकाश महेशपुरी
कमियाॅं अपनों में नहीं
कमियाॅं अपनों में नहीं
Harminder Kaur
साहस
साहस
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
जब ‘नानक’ काबा की तरफ पैर करके सोये
जब ‘नानक’ काबा की तरफ पैर करके सोये
कवि रमेशराज
■ 100% तौहीन...
■ 100% तौहीन...
*Author प्रणय प्रभात*
कई लोगों के दिलों से बहुत दूर हुए हैं
कई लोगों के दिलों से बहुत दूर हुए हैं
कवि दीपक बवेजा
Harmony's Messenger: Sauhard Shiromani Sant Shri Saurabh
Harmony's Messenger: Sauhard Shiromani Sant Shri Saurabh
World News
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
"आया रे बुढ़ापा"
Dr Meenu Poonia
अनुभूति
अनुभूति
Dr. Kishan tandon kranti
सरल जीवन
सरल जीवन
Brijesh Kumar
अभिषेक कुमार यादव: एक प्रेरक जीवन गाथा
अभिषेक कुमार यादव: एक प्रेरक जीवन गाथा
Abhishek Yadav
मेरे अंतस में ......
मेरे अंतस में ......
sushil sarna
Loading...