Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Feb 2023 · 1 min read

तुम हारिये ना हिम्मत

खुशियाँ मिलेगी तुमको एक दिन।
तुम हारिये ना हिम्मत, तुम हारिये ना हिम्मत।।
होगा जीवन रोशन तुम्हारा एक दिन।
तुम हारिये ना हिम्मत, तुम हारिये ना हिम्मत।।
खुशियाँ मिलेगी तुमको———————।।

इस दुनिया में लोग बहुरंगी है।
और सोच है हर किसी की अजीब।।
होगी किसी की नजरें तुझपे बुरी।
होंगे कुछ तो तुम्हारे दिल के करीब।।
होंगे बुलन्द सितारें तुम्हारे एक दिन।
तुम हारिये ना हिम्मत, तुम हारिये ना हिम्मत।।
खुशियाँ मिलेगी तुमको——————–।।

कांटें भी होंगे तुम्हारी राहों में।
लेकिन उदास तुमको नहीं होना है।।
होगा खड़ा पहाड़ तुम्हारी मंजिल में।
लेकिन निराश तुमको नहीं होना है।।
मंजिल मिलेगी तुमको एक दिन।
तुम हारिये ना हिम्मत, तुम हारिये ना हिम्मत।।
खुशियाँ मिलेगी तुमको—————–।।

नहीं साथ दे तुम्हारा जब परिवार भी।
ऐसे में ऑंसू तुम कभी बहाना नहीं।।
सुख और दुःख जीवन की कसौटी है।
लेकिन तुम अपनी बाजी हारना नहीं।।
तुम भी बनोगे विजेता सच एक दिन।
तुम हारिये ना हिम्मत, तुम हारिये ना हिम्मत।।
खुशियाँ मिलेगी तुमको———————।।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
400 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
रेस का घोड़ा
रेस का घोड़ा
Naseeb Jinagal Koslia नसीब जीनागल कोसलिया
*** पल्लवी : मेरे सपने....!!! ***
*** पल्लवी : मेरे सपने....!!! ***
VEDANTA PATEL
दुखता बहुत है, जब कोई छोड़ के जाता है
दुखता बहुत है, जब कोई छोड़ के जाता है
Kumar lalit
देह अधूरी रूह बिन, औ सरिता बिन नीर ।
देह अधूरी रूह बिन, औ सरिता बिन नीर ।
Arvind trivedi
अद्वितीय संवाद
अद्वितीय संवाद
Monika Verma
आंखो के पलको पर जब राज तुम्हारा होता है
आंखो के पलको पर जब राज तुम्हारा होता है
Kunal Prashant
अगर बात तू मान लेगा हमारी।
अगर बात तू मान लेगा हमारी।
सत्य कुमार प्रेमी
ज़िंदगी ने कहां
ज़िंदगी ने कहां
Dr fauzia Naseem shad
*माँ जननी सदा सत्कार करूँ*
*माँ जननी सदा सत्कार करूँ*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
सुखम् दुखम
सुखम् दुखम
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बात तनिक ह हउवा जादा
बात तनिक ह हउवा जादा
Sarfaraz Ahmed Aasee
थोड़ा विश्राम चाहता हू,
थोड़ा विश्राम चाहता हू,
Umender kumar
शीर्षक:-आप ही बदल गए।
शीर्षक:-आप ही बदल गए।
Pratibha Pandey
!! फिर तात तेरा कहलाऊँगा !!
!! फिर तात तेरा कहलाऊँगा !!
Akash Yadav
!! निरीह !!
!! निरीह !!
Chunnu Lal Gupta
2) भीड़
2) भीड़
पूनम झा 'प्रथमा'
हर इंसान लगाता दांव
हर इंसान लगाता दांव
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
ग़ज़ल - संदीप ठाकुर
ग़ज़ल - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
रिश्ते के सफर जिस व्यवहार, नियत और सीरत रखोगे मुझसे
रिश्ते के सफर जिस व्यवहार, नियत और सीरत रखोगे मुझसे
पूर्वार्थ
‘1857 के विद्रोह’ की नायिका रानी लक्ष्मीबाई
‘1857 के विद्रोह’ की नायिका रानी लक्ष्मीबाई
कवि रमेशराज
देशभक्ति पर दोहे
देशभक्ति पर दोहे
Dr Archana Gupta
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन
Santosh kumar Miri
मैं तुझसे मोहब्बत करने लगा हूं
मैं तुझसे मोहब्बत करने लगा हूं
Sunil Suman
रोला छंद
रोला छंद
sushil sarna
आज़ के रिश्ते.........
आज़ के रिश्ते.........
Sonam Puneet Dubey
बता दिया करो मुझसे मेरी गलतिया!
बता दिया करो मुझसे मेरी गलतिया!
शेखर सिंह
वाह ! मेरा देश किधर जा रहा है ।
वाह ! मेरा देश किधर जा रहा है ।
कृष्ण मलिक अम्बाला
वो दिल लगाकर मौहब्बत में अकेला छोड़ गये ।
वो दिल लगाकर मौहब्बत में अकेला छोड़ गये ।
Phool gufran
ये जो लोग दावे करते हैं न
ये जो लोग दावे करते हैं न
ruby kumari
"जानिब"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...