Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Nov 2023 · 1 min read

*** तुम से घर गुलज़ार हुआ ***

*** तुम से घर गुलज़ार हुआ ***
**************************

उन से जब से है तकरार हुआ,
उनका अब तक ना दीदार हुआ।

ज्यों ही वो नजरों से दूर हुई,
बेगाना हम से संसार हुआ।

जलता रहता है मन और बदन,
ऐसा कोई क्या बद कार हुआ।

सुन लो लोगो की अपनी न कहो,
बेबस हो कर मैं लाचार हुआ।

मनसीरत ने देखा घोर जहां,
तुम से ही तो घर गुलज़ार हुआ।
*************************
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेड़ी राओ वाली (कैथल)

202 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
Hajipur
Hajipur
Hajipur
विषय- सत्य की जीत
विषय- सत्य की जीत
rekha mohan
आप जब खुद को
आप जब खुद को
Dr fauzia Naseem shad
कभी तो फिर मिलो
कभी तो फिर मिलो
Davina Amar Thakral
देखा है।
देखा है।
Shriyansh Gupta
ये जो तेरे बिना भी, तुझसे इश्क़ करने की आदत है।
ये जो तेरे बिना भी, तुझसे इश्क़ करने की आदत है।
Manisha Manjari
*दर्द का दरिया  प्यार है*
*दर्द का दरिया प्यार है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
*प्यार तो होगा*
*प्यार तो होगा*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कभी बारिश में जो भींगी बहुत थी
कभी बारिश में जो भींगी बहुत थी
Shweta Soni
#drarunkumarshastri
#drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सरकार बिक गई
सरकार बिक गई
साहित्य गौरव
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
2543.पूर्णिका
2543.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
किसी की हिफाजत में,
किसी की हिफाजत में,
Dr. Man Mohan Krishna
गुड़िया
गुड़िया
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बढ़ती इच्छाएं ही फिजूल खर्च को जन्म देती है।
बढ़ती इच्छाएं ही फिजूल खर्च को जन्म देती है।
Rj Anand Prajapati
दिल से कह देना कभी किसी और की
दिल से कह देना कभी किसी और की
शेखर सिंह
గురువు కు వందనం.
గురువు కు వందనం.
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
"गर्दिशों ने कहा, गर्दिशों से सुना।
*Author प्रणय प्रभात*
तू ठहर चांद हम आते हैं
तू ठहर चांद हम आते हैं
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
"गलत"
Dr. Kishan tandon kranti
श्रद्धावान बनें हम लेकिन, रहें अंधश्रद्धा से दूर।
श्रद्धावान बनें हम लेकिन, रहें अंधश्रद्धा से दूर।
महेश चन्द्र त्रिपाठी
Don't let people who have given up on your dreams lead you a
Don't let people who have given up on your dreams lead you a
पूर्वार्थ
मजे की बात है
मजे की बात है
Rohit yadav
!!! होली आई है !!!
!!! होली आई है !!!
जगदीश लववंशी
कलयुग मे घमंड
कलयुग मे घमंड
Anil chobisa
मै थक गया
मै थक गया
भरत कुमार सोलंकी
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
शाकाहारी बने
शाकाहारी बने
Sanjay ' शून्य'
गर्द चेहरे से अपने हटा लीजिए
गर्द चेहरे से अपने हटा लीजिए
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
Loading...