Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jun 2016 · 1 min read

” तिरंगे में लिपटी जवानी कहाँ है “

****************************
दुआ बन्दगी की निशानी कहाँ है ।
मरा आँख में आज पानी कहाँ है ।

सिसकती मेरे देश की आज सरहद ।
बता और कीमत चुकानी कहाँ है ।

हरिश्चंद जैसे कहाँ सत्यवादी ।
कहाँ अब वो राजा वो रानी कहाँ है ।

मुझे जो यहाँ पर कशिश खींच लायी ।
मैं आवाज देता दिवानी कहाँ है ।

मेरा दिल चुराया तो लौटा उसे दो ।
मेहरबान थे मेहरबानी कहाँ है ।

दुआ मुझको देती जुदाई को सहकर ।
वफ़ा की वो कसमें निभानी कहाँ है ।

पिला दो हमे आज नजरों से साकी ।
बहुत ब्रांड बदले पुरानी कहाँ है ।

निशानी लगाकर के सीने से रक्खी ।
बढ़ा हाथ कह दे पिन्हानी कहाँ है ।

बसा बीच सरहद पे लें आशियाँ हम ।
बता दूरियां अब मिटानी कहाँ है ।

चला वीर हूँ आज सबसे जुदा हो ।
तिरंगे में लिपटी जवानी कहाँ है ।
*****************************
वीर पटेल

483 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
खेल जगत का सूर्य
खेल जगत का सूर्य
आकाश महेशपुरी
मुस्कान
मुस्कान
Surya Barman
मेरी कलम
मेरी कलम
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
अक्सर औरत को यह खिताब दिया जाता है
अक्सर औरत को यह खिताब दिया जाता है
Harminder Kaur
"जाग दुखियारे"
Dr. Kishan tandon kranti
24/241. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/241. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मेरे प्रेम पत्र
मेरे प्रेम पत्र
विजय कुमार नामदेव
डर का घर / MUSAFIR BAITHA
डर का घर / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
इश्क के चादर में इतना न लपेटिये कि तन्हाई में डूब जाएँ,
इश्क के चादर में इतना न लपेटिये कि तन्हाई में डूब जाएँ,
Sukoon
💐अज्ञात के प्रति-60💐
💐अज्ञात के प्रति-60💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
!..........!
!..........!
शेखर सिंह
मुस्कुराती आंखों ने उदासी ओढ़ ली है
मुस्कुराती आंखों ने उदासी ओढ़ ली है
Abhinay Krishna Prajapati-.-(kavyash)
अब भी दुनिया का सबसे कठिन विषय
अब भी दुनिया का सबसे कठिन विषय "प्रेम" ही है
DEVESH KUMAR PANDEY
*****वो इक पल*****
*****वो इक पल*****
Kavita Chouhan
धारण कर सत् कोयल के गुण
धारण कर सत् कोयल के गुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
पल भर की खुशी में गम
पल भर की खुशी में गम
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मोमबत्ती जब है जलती
मोमबत्ती जब है जलती
Buddha Prakash
अजनबी
अजनबी
लक्ष्मी सिंह
वर्ल्ड रिकॉर्ड
वर्ल्ड रिकॉर्ड
Dr. Pradeep Kumar Sharma
উত্তর দাও পাহাড়
উত্তর দাও পাহাড়
Arghyadeep Chakraborty
यादें
यादें
Tarkeshwari 'sudhi'
गंतव्य में पीछे मुड़े, अब हमें स्वीकार नहीं
गंतव्य में पीछे मुड़े, अब हमें स्वीकार नहीं
Er.Navaneet R Shandily
अधूरा घर
अधूरा घर
Kanchan Khanna
पथ नहीं होता सरल
पथ नहीं होता सरल
surenderpal vaidya
#DrArunKumarshastri
#DrArunKumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
#शेर
#शेर
*Author प्रणय प्रभात*
मेरे मन के धरातल पर बस उन्हीं का स्वागत है
मेरे मन के धरातल पर बस उन्हीं का स्वागत है
ruby kumari
कभी आंख मारना कभी फ्लाइंग किस ,
कभी आंख मारना कभी फ्लाइंग किस ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
तारीखें पड़ती रहीं, हुए दशक बर्बाद (कुंडलिया)
तारीखें पड़ती रहीं, हुए दशक बर्बाद (कुंडलिया)
Ravi Prakash
ज़िंदगी जीना
ज़िंदगी जीना
Dr fauzia Naseem shad
Loading...