Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jun 2023 · 1 min read

तितली रानी (बाल कविता)

तितली रानी तितली रानी।
बाग-बगीचों की महरानी।।
फूलों पर तुम रहने वाली।
चाल तुम्हारी है मतवाली।।

दिखती हो तुम रंग बिरंगी।
ज्यों पहने चुनरी सतरंगी।।
कोमल-कोमल पंख तुम्हारे।
नयन-नक्श है कितने प्यारे।।

कली-कली पर तुम मँडराती।
बैठ फूल पर तुम इतराती।।
कलियाँ देख तुम्हें हरसातीं।
बन कर सुंदर पुष्प लुभातीं।।

हमें देख क्यों उड़ जाती हो।
क्यों तुम पास नहीं आती हो।।
दौड़ दौड़ कर हम थक जाते।
फिर भी तुझको पकड़ न पाते।।

पास हमारे भी तो आओ।
हमको भी उड़ना सिखलाओ।।
खुश रहने का राज बताओ।
जग की अच्छी बात सिखाओ।।

काश तुम्हारे सँग उड़ पाते।
सैर-सपाटा खूब लगाते।।
परियों से मिलते इतराते।
हम भी दूर देश हो आते।।

नाथ सोनांचली

290 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अलविदा
अलविदा
ruby kumari
उधार  ...
उधार ...
sushil sarna
समाज में शिक्षा का वही स्थान है जो शरीर में ऑक्सीजन का।
समाज में शिक्षा का वही स्थान है जो शरीर में ऑक्सीजन का।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
6-
6- "अयोध्या का राम मंदिर"
Dayanand
🥀✍*अज्ञानी की*🥀
🥀✍*अज्ञानी की*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
रे ज़िन्दगी
रे ज़िन्दगी
Jitendra Chhonkar
जग अंधियारा मिट रहा, उम्मीदों के संग l
जग अंधियारा मिट रहा, उम्मीदों के संग l
Shyamsingh Lodhi (Tejpuriya)
"कलम के लड़ाई"
Dr. Kishan tandon kranti
दुआ के हाथ
दुआ के हाथ
Shekhar Chandra Mitra
❤️🌺मेरी मां🌺❤️
❤️🌺मेरी मां🌺❤️
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
शिक्षक जब बालक को शिक्षा देता है।
शिक्षक जब बालक को शिक्षा देता है।
Kr. Praval Pratap Singh Rana
यादों के तटबंध ( समीक्षा)
यादों के तटबंध ( समीक्षा)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
धरती मेरी स्वर्ग
धरती मेरी स्वर्ग
Sandeep Pande
मेरा केवि मेरा गर्व 🇳🇪 .
मेरा केवि मेरा गर्व 🇳🇪 .
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
"श्रृंगार रस के दोहे"
लक्ष्मीकान्त शर्मा 'रुद्र'
*पहचान* – अहोभाग्य
*पहचान* – अहोभाग्य
DR ARUN KUMAR SHASTRI
23/105.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/105.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
" पाती जो है प्रीत की "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
पारो
पारो
Acharya Rama Nand Mandal
मायका  (कुंडलिया)
मायका (कुंडलिया)
Ravi Prakash
// जिंदगी दो पल की //
// जिंदगी दो पल की //
Surya Barman
गजल
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
मैं प्यार के सरोवर मे पतवार हो गया।
मैं प्यार के सरोवर मे पतवार हो गया।
Anil chobisa
#जवाब जिंदगी का#
#जवाब जिंदगी का#
Ram Babu Mandal
मेरा तुझसे मिलना, मिलकर इतना यूं करीब आ जाना।
मेरा तुझसे मिलना, मिलकर इतना यूं करीब आ जाना।
AVINASH (Avi...) MEHRA
जिंदगी सभी के लिए एक खुली रंगीन किताब है
जिंदगी सभी के लिए एक खुली रंगीन किताब है
Rituraj shivem verma
गुज़रा हुआ वक्त
गुज़रा हुआ वक्त
Surinder blackpen
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
वास्तविक प्रकाशक
वास्तविक प्रकाशक
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Lines of day
Lines of day
Sampada
Loading...