Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jan 2024 · 1 min read

तहरीर लिख दूँ।

बह्न :- बह्र-ए-रमल मुसद्दस सालिम
अर्कान :- फ़ाइलातुन् फ़ाइलातुन् फ़ाइलातुन्
वज़्न :- 2122 2122 2122
रदीफ़ :- लिख दूँ
काफ़िया-ईर

गीत ग़ज़लों में तेरी तस्वीर लिख दूँ।
लफ्ज़ में ढलती तेरी तहरीर लिख दूँ।

ये तमन्ना आखिरी है इक मेरी बस
आसमां पे इश्क की तक़दीर लिख दूँ।

जिसमें मैं हूँ और मैं केवल सनम हूँ
तेरे दिल को मैं अपनी जागीर लिख दूँ।

बेवफ़ाई चैन से जीने न देगी।
चल जफ़ा को तेरी तंज-ओ तीर लिख दूँ।

ये अँधेरे ढूंढ़ ही लेते हैं उसको
बोल ‘नीलम’ को कैसे तनवीर लिख दूँ।

नीलम शर्मा ✍️

Language: Hindi
1 Like · 120 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
2773. *पूर्णिका*
2773. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
नारी के सोलह श्रृंगार
नारी के सोलह श्रृंगार
Dr. Vaishali Verma
वफ़ा का इनाम तेरे प्यार की तोहफ़े में है,
वफ़ा का इनाम तेरे प्यार की तोहफ़े में है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
मैं कैसे कह दूँ कि खतावर नहीं हो तुम
मैं कैसे कह दूँ कि खतावर नहीं हो तुम
VINOD CHAUHAN
बह्र - 2122 2122 212 फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलुन
बह्र - 2122 2122 212 फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलुन
Neelam Sharma
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
मेरा प्रयास ही है, मेरा हथियार किसी चीज को पाने के लिए ।
मेरा प्रयास ही है, मेरा हथियार किसी चीज को पाने के लिए ।
Ashish shukla
"रात का मिलन"
Ekta chitrangini
*शीत वसंत*
*शीत वसंत*
Nishant prakhar
Dad's Tales of Yore
Dad's Tales of Yore
Natasha Stephen
बड़े होते बच्चे
बड़े होते बच्चे
Manu Vashistha
अगर न बने नये रिश्ते ,
अगर न बने नये रिश्ते ,
शेखर सिंह
दोस्ती
दोस्ती
Surya Barman
असर
असर
Shyam Sundar Subramanian
कुछ लोग बहुत पास थे,अच्छे नहीं लगे,,
कुछ लोग बहुत पास थे,अच्छे नहीं लगे,,
Shweta Soni
मुहब्बत कुछ इस कदर, हमसे बातें करती है…
मुहब्बत कुछ इस कदर, हमसे बातें करती है…
Anand Kumar
किसान
किसान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
कहो तुम बात खुलकर के ,नहीं कुछ भी छुपाओ तुम !
कहो तुम बात खुलकर के ,नहीं कुछ भी छुपाओ तुम !
DrLakshman Jha Parimal
हंसना आसान मुस्कुराना कठिन लगता है
हंसना आसान मुस्कुराना कठिन लगता है
Manoj Mahato
Quote...
Quote...
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
अपना-अपना
अपना-अपना "टेलिस्कोप" निकाल कर बैठ जाएं। वर्ष 2047 के गृह-नक
*प्रणय प्रभात*
दिनांक:- २४/५/२०२३
दिनांक:- २४/५/२०२३
संजीव शुक्ल 'सचिन'
मेरे स्वप्न में आकर खिलखिलाया न करो
मेरे स्वप्न में आकर खिलखिलाया न करो
Akash Agam
*कभी तो खुली किताब सी हो जिंदगी*
*कभी तो खुली किताब सी हो जिंदगी*
Shashi kala vyas
* शक्ति स्वरूपा *
* शक्ति स्वरूपा *
surenderpal vaidya
'Memories some sweet and some sour..'
'Memories some sweet and some sour..'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
दवा और दुआ में इतना फर्क है कि-
दवा और दुआ में इतना फर्क है कि-
संतोष बरमैया जय
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
श्री गणेश स्तुति (भक्ति गीत)
श्री गणेश स्तुति (भक्ति गीत)
Ravi Prakash
मुझे जब भी तुम प्यार से देखती हो
मुझे जब भी तुम प्यार से देखती हो
Johnny Ahmed 'क़ैस'
Loading...