Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Dec 2023 · 1 min read

डॉ अरूण कुमार शास्त्री

डॉ अरूण कुमार शास्त्री
मेरा मानना है कि – दो तरह के लोग ही अब बचे है –
1 -जिन्हें पता है किसके सामने कैसे नजर आना है उस व्यक्ति के अनुसार खुद को पेश करते है
2-जिन्हें कुछ भी कर लो वैसे ही नजर आएंगे जैसे वो नजर आना चाहते है

वास्तविक लोगो की बड़ी कमी पाई जा रही है

242 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR ARUN KUMAR SHASTRI
View all
You may also like:
बंदिशें
बंदिशें
Kumud Srivastava
दिल की धड़कन भी तुम सदा भी हो । हो मेरे साथ तुम जुदा भी हो ।
दिल की धड़कन भी तुम सदा भी हो । हो मेरे साथ तुम जुदा भी हो ।
Neelam Sharma
3226.*पूर्णिका*
3226.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
😢स्मृति शेष / संस्मरण
😢स्मृति शेष / संस्मरण
*Author प्रणय प्रभात*
"जिन्दगी में"
Dr. Kishan tandon kranti
मजहब
मजहब
Dr. Pradeep Kumar Sharma
आपस में अब द्वंद है, मिलते नहीं स्वभाव।
आपस में अब द्वंद है, मिलते नहीं स्वभाव।
Manoj Mahato
शिमला
शिमला
Dr Parveen Thakur
भूमि भव्य यह भारत है!
भूमि भव्य यह भारत है!
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
That poem
That poem
Bidyadhar Mantry
शंकर हुआ हूँ (ग़ज़ल)
शंकर हुआ हूँ (ग़ज़ल)
Rahul Smit
बुंदेली दोहा - सुड़ी
बुंदेली दोहा - सुड़ी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
न्याय के लिए
न्याय के लिए
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
*साहित्यिक बाज़ार*
*साहित्यिक बाज़ार*
Lokesh Singh
समझदारी ने दिया धोखा*
समझदारी ने दिया धोखा*
Rajni kapoor
वक़्त को गुज़र
वक़्त को गुज़र
Dr fauzia Naseem shad
ख़ास तो बहुत थे हम भी उसके लिए...
ख़ास तो बहुत थे हम भी उसके लिए...
Dr Manju Saini
तुम्हारी बातों में ही
तुम्हारी बातों में ही
हिमांशु Kulshrestha
रण
रण
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
आसाँ नहीं है - अंत के सच को बस यूँ ही मान लेना
आसाँ नहीं है - अंत के सच को बस यूँ ही मान लेना
Atul "Krishn"
Touch the Earth,
Touch the Earth,
Dhriti Mishra
* मुक्तक *
* मुक्तक *
surenderpal vaidya
पल-पल यू मरना
पल-पल यू मरना
The_dk_poetry
सावन में घिर घिर घटाएं,
सावन में घिर घिर घटाएं,
Seema gupta,Alwar
गणपति स्तुति
गणपति स्तुति
Dr Archana Gupta
*पैसे-वालों में दिखा, महा घमंडी रोग (कुंडलिया)*
*पैसे-वालों में दिखा, महा घमंडी रोग (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
आ गए हम तो बिना बुलाये तुम्हारे घर
आ गए हम तो बिना बुलाये तुम्हारे घर
gurudeenverma198
सत्य यह भी
सत्य यह भी
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
जिंदगी को जीने का तरीका न आया।
जिंदगी को जीने का तरीका न आया।
Taj Mohammad
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...