Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 1, 2022 · 1 min read

डर कर लक्ष्य कोई पाता नहीं है ।

बड़े-बड़े लक्ष्यों से,
डगमगाता नहीं मानव पुतला ,
प्राण बसे इसके अंदर है ,
मुसीबतों से घबराता नहीं है ।
डर कर लक्ष्य कोई पाता नहीं है ।।१।

संघर्ष करता डटा रहता है ,
कोशिशे अंत समय तक करता है ,
‘लक्ष्य’ है तय किया है पाने को ,
डिगेगा नहीं निर्णय मजबूत लिया है ।
डर कर लक्ष्य कोई पाता नहीं है ।।२।

हौसलें बुलंद है अंदर से ,
कर्म पथ से पीछे नहीं हटेगा ,
जंग है रणभूमि में न सही ,
मजबूत इरादों के बल तो बढ़ेगा ।
डर कर लक्ष्य कोई पाता नहीं है ।।३।

जुनून खुद ही भर जाता हृदय में ,
प्रत्यक्ष खड़ा प्रतिद्वंदी नजर आता है,
कोशिश तब तक कम नहीं करना है तुझे ,
लक्ष्य पाने तक ही भटकना है ।
डर कर लक्ष्य कोई पाता नहीं है ।।४।

रचनाकार –
बुद्ध प्रकाश
मौदहा हमीरपुर ।

1 Like · 73 Views
You may also like:
*जिंदगी को वह गढ़ेंगे ,जो प्रलय को रोकते हैं*( गीत...
Ravi Prakash
तुम्हीं हो पापा
Krishan Singh
मोहब्बत ही आजकल कम हैं
Dr.sima
तुम...
Sapna K S
सत्यमंथन
मनोज कर्ण
✍️सुर गातो...!✍️
"अशांत" शेखर
अकेलापन
AMRESH KUMAR VERMA
की बात
AJAY PRASAD
अपनी क़िस्मत को फिर बदल कर देखते हैं
Muhammad Asif Ali
समंदर की चेतावनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
चुनौती
AMRESH KUMAR VERMA
मेरी खुशी तुमसे है
VINOD KUMAR CHAUHAN
दर्द का अंत
AMRESH KUMAR VERMA
खोकर के अपनो का विश्वास...। (भाग -1)
Buddha Prakash
✍️मेरा साया छूकर गया✍️
"अशांत" शेखर
धार्मिक आस्था एवं धार्मिक उन्माद !
Shyam Sundar Subramanian
रामपुर में काका हाथरसी नाइट
Ravi Prakash
मेरे पापा जैसे कोई....... है न ख़ुदा
Nitu Sah
✍️अश्क़ का खारा पानी ✍️
"अशांत" शेखर
साथीला तूच हवे
"अशांत" शेखर
पीला पड़ा लाल तरबूज़ / (गर्मी का गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
चंद सांसे अभी बाकी है
Arjun Chauhan
एक दुखियारी माँ
DESH RAJ
महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन
Ram Krishan Rastogi
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
VINOD KUMAR CHAUHAN
"क़तरा"
Ajit Kumar "Karn"
मैं मेहनत हूँ
Anamika Singh
जावेद कक्षा छः का छात्र कला के बल पर कई...
Shankar J aanjna
"एक नज़्म लिख रहा हूँ"
Lohit Tamta
मजदूर.....
Chandra Prakash Patel
Loading...