Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Jul 2023 · 1 min read

*डमरु (बाल कविता)*

डमरु (बाल कविता)

डमरु वाद्य-यंत्र कहलाता
सुर से इसे बजाया जाता
शिव-नटराज नृत्य जब करते
डमरू से ही स्वऱ हैं भरते
डमरु बाजारों में मिलता
पाकर बच्चों का मन खिलता

रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

1 Like · 376 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
"सच्ची मोहब्बत के बगैर"
Dr. Kishan tandon kranti
Mai koi kavi nhi hu,
Mai koi kavi nhi hu,
Sakshi Tripathi
महाशिवरात्रि
महाशिवरात्रि
Seema gupta,Alwar
प्रभु राम अवध वापस आये।
प्रभु राम अवध वापस आये।
Kuldeep mishra (KD)
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
*पहचान* – अहोभाग्य
*पहचान* – अहोभाग्य
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पार्वती
पार्वती
लक्ष्मी सिंह
हिन्दी दोहा बिषय-जगत
हिन्दी दोहा बिषय-जगत
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
नहीं उनकी बलि लो तुम
नहीं उनकी बलि लो तुम
gurudeenverma198
कौन्तय
कौन्तय
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
गर्दिश में सितारा
गर्दिश में सितारा
Shekhar Chandra Mitra
संविधान का पालन
संविधान का पालन
विजय कुमार अग्रवाल
"जिंदगी"
नेताम आर सी
छत्तीसगढ़ी हाइकु
छत्तीसगढ़ी हाइकु
Dr. Pradeep Kumar Sharma
💐अज्ञात के प्रति-86💐
💐अज्ञात के प्रति-86💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
2351.पूर्णिका
2351.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
भजलो राम राम राम सिया राम राम राम प्यारे राम
भजलो राम राम राम सिया राम राम राम प्यारे राम
Satyaveer vaishnav
शुरुआत जरूरी है
शुरुआत जरूरी है
Shyam Pandey
*पत्थर तैरे सेतु बनाया (कुछ चौपाइयॉं)*
*पत्थर तैरे सेतु बनाया (कुछ चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
मातर मड़ई भाई दूज
मातर मड़ई भाई दूज
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
"महंगाई"
Slok maurya "umang"
ये ज़िंदगी
ये ज़िंदगी
Shyam Sundar Subramanian
🌷🌷  *
🌷🌷 *"स्कंदमाता"*🌷🌷
Shashi kala vyas
Love whole heartedly
Love whole heartedly
Dhriti Mishra
राष्ट्र निर्माण को जीवन का उद्देश्य बनाया था
राष्ट्र निर्माण को जीवन का उद्देश्य बनाया था
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बच्चे कहाँ सोयेंगे...???
बच्चे कहाँ सोयेंगे...???
Kanchan Khanna
गाओ शुभ मंगल गीत
गाओ शुभ मंगल गीत
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
🙅लघु-कथा🙅
🙅लघु-कथा🙅
*Author प्रणय प्रभात*
" मैं कांटा हूँ, तूं है गुलाब सा "
Aarti sirsat
*जलते हुए विचार* ( 16 of 25 )
*जलते हुए विचार* ( 16 of 25 )
Kshma Urmila
Loading...