Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Oct 2023 · 1 min read

*ज्ञानी की फटकार (पॉंच दोहे)*

ज्ञानी की फटकार (पॉंच दोहे)
________________________
1)
रखिए सोना जानकर, ज्ञानी की फटकार
सौ-सौ तारीफें मिलीं, मूरख की बेकार
2)
सबसे अच्छा जो मिला, ज्ञानवान का संग
अंतर्मन महका दिया, महक गया हर अंग
3)
भर देती सौ रंग है, गुरु की पावन सीख
जीवन में मिलती नहीं, ऐसी स्वर्णिम भीख
4)
नमन-नमन सौ बार है, जो भी देखे दोष
हाथ जोड़कर बावरे, दे उसको परितोष
5)
गलती देखी कह दिया, उनको नम्र प्रणाम
चाटुकार कब कर सके, ऐसा निर्भय काम
————————————-
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

Language: Hindi
193 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
कोई हमको ढूँढ़ न पाए
कोई हमको ढूँढ़ न पाए
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
गौरैया
गौरैया
Dr.Pratibha Prakash
*सुप्रसिद्ध हिंदी कवि  डॉक्टर उर्मिलेश ः कुछ यादें*
*सुप्रसिद्ध हिंदी कवि डॉक्टर उर्मिलेश ः कुछ यादें*
Ravi Prakash
India is my national
India is my national
Rajan Sharma
खामोशियां मेरी आवाज है,
खामोशियां मेरी आवाज है,
Stuti tiwari
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
माँ स्कंदमाता की कृपा,
माँ स्कंदमाता की कृपा,
Neelam Sharma
शौक में नहीं उड़ता है वो, उड़ना उसकी फक्र पहचान है,
शौक में नहीं उड़ता है वो, उड़ना उसकी फक्र पहचान है,
manjula chauhan
सफ़र आसान हो जाए मिले दोस्त ज़बर कोई
सफ़र आसान हो जाए मिले दोस्त ज़बर कोई
आर.एस. 'प्रीतम'
तेरी चाहत का कैदी
तेरी चाहत का कैदी
N.ksahu0007@writer
जन्मदिन पर आपके दिल से यही शुभकामना।
जन्मदिन पर आपके दिल से यही शुभकामना।
सत्य कुमार प्रेमी
फूक मार कर आग जलाते है,
फूक मार कर आग जलाते है,
Buddha Prakash
वक्त नहीं है
वक्त नहीं है
VINOD CHAUHAN
देखना हमको फिर नहीं भाता
देखना हमको फिर नहीं भाता
Dr fauzia Naseem shad
किसी नौजवान से
किसी नौजवान से
Shekhar Chandra Mitra
"कहानी अउ जवानी"
Dr. Kishan tandon kranti
I
I
Ranjeet kumar patre
दिल कि गली
दिल कि गली
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
💐अज्ञात के प्रति-105💐
💐अज्ञात के प्रति-105💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जिंदगी बोझ लगेगी फिर भी उठाएंगे
जिंदगी बोझ लगेगी फिर भी उठाएंगे
पूर्वार्थ
सवा सेर
सवा सेर
Dr. Pradeep Kumar Sharma
“ इन लोगों की बात सुनो”
“ इन लोगों की बात सुनो”
DrLakshman Jha Parimal
कुत्ते
कुत्ते
Dr MusafiR BaithA
जो कुछ भी है आज है,
जो कुछ भी है आज है,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ग़म
ग़म
Harminder Kaur
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Phool gufran
एक ख्वाब थे तुम,
एक ख्वाब थे तुम,
लक्ष्मी सिंह
Kisne kaha Maut sirf ek baar aati h
Kisne kaha Maut sirf ek baar aati h
Kumar lalit
23/95.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/95.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
माँ की ममता,प्यार पिता का, बेटी बाबुल छोड़ चली।
माँ की ममता,प्यार पिता का, बेटी बाबुल छोड़ चली।
Anil Mishra Prahari
Loading...