Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Mar 2022 · 1 min read

जो मौका रहनुमाई का मिला है

ग़ज़ल
जो मौका रहनुमाई1 का मिला है
उन्हें ज़रिया2 कमाई का मिला है

हमें बैठा दिया गूँगों की सफ़3 में
ये तोहफ़ा लब-कुशाई4 का मिला है

नहीं है आईना उनके घरों में
सो काम उनको बुराई का मिला है

बुरा करने का है अधिकार उसको
हमें बस हक़ भलाई का मिला है

तमाशा बन गया दुनिया में मेरा
सिला ये ख़ुद-नुमाई5 का मिला है

हुए हैं बे-अदब6 बच्चे हमारे
नतीजा ये ढिलाई का मिला है

पहाड़ इसको बनायेंगे ‘अनीस’अब
उन्हें दाना जो राई का मिला है
– अनीस शाह ‘अनीस’

1.नेतृत्व 2.स्त्रोत 3.पंक्ति 4.बात करना 5.आत्म प्रदर्शन 6.अशिष्ट

4 Likes · 5 Comments · 200 Views
You may also like:
अश्वमेध का घोड़ा
Shekhar Chandra Mitra
बचपन की साईकिल
Buddha Prakash
आखिरी शब्द
Pooja Singh
तूने किया हलाल
Jatashankar Prajapati
जिनवानी स्तुती (अभंग )
Ajay Chakwate *अजेय*
ये जी चाहता है।
Taj Mohammad
मानवता के डगर पर
Shivraj Anand
*फीता काटने की कला (हास्य-व्यंग्य)*
Ravi Prakash
मस्तान मियां
Shivkumar Bilagrami
अगर नशा सिर्फ शराब में
Nitu Sah
साथ किसने निभाया है
Dr fauzia Naseem shad
गंगा दशहरा
श्री रमण 'श्रीपद्'
हम गीत ख़ुशी के गाएंगे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हासिल करने की ललक होनी चाहिए
Anamika Singh
जाति दलदल या कुछ ओर
विनोद सिल्ला
माँ वाणी की वंदना
Prakash Chandra
कविता - राह नहीं बदलूगां
Chatarsingh Gehlot
अंगार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
“माटी ” तेरे रूप अनेक
DESH RAJ
पापा की परी...
Sapna K S
# दिल्ली होगा कब्जे में .....
Chinta netam " मन "
शख्स या शख्शियत
Dr.S.P. Gautam
■ कटाक्ष / इंटरनल डेमोक्रेसी
*प्रणय प्रभात*
अन्नदाता किसान कैसे हो
नूरफातिमा खातून नूरी
तुझे मतलूब थी वो रातें कभी
Manoj Kumar
कुंडलियां छंद (7)आया मौसम
Pakhi Jain
Advice
Shyam Sundar Subramanian
✍️इत्तिहाद✍️
'अशांत' शेखर
मानव तन
Rakesh Pathak Kathara
स्तुति
संजीव शुक्ल 'सचिन'
Loading...