Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 May 2023 · 1 min read

जीवन की सच्चाई

अब जागो ना दोस्तों, सुनो एक नयी कहानी,
जीवन की भागदौड़ में जीते हम बेखबरी से,
रूठे हुए अपनों से मिलना भुला देते हैं,
पर जीवन की ये सच्चाई हमें समझा देती है।

हम चलते रहते हैं घातों का सामना करते,
कभी खुशी मिलती है, कभी गम से लड़ते,
पर जब हम अपनों से दूर हो जाते हैं,
तब जीवन की सच्चाई हमें समझा देती है।

कितने दोस्त थे जो अब हमें तक नहीं,
कितने साथी जो अब हमारे साथ नहीं,
आज जब हम अकेले बैठे हैं तन्हाई में,
तब जीवन की सच्चाई हमें समझा देती है।

अब जागो ना दोस्तों, समय हमसे चला गया,
जीवन का सार इसमें ही छुपा गया,
हम जब भी खुश होते हैं, तब अकेले होते हैं,
तब जीवन की सच्चाई हमें समझा देती है।

336 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Sidhartha Mishra
View all
You may also like:
आई तेरी याद तो,
आई तेरी याद तो,
sushil sarna
सफाई कामगारों के हक और अधिकारों की दास्तां को बयां करती हुई कविता 'आखिर कब तक'
सफाई कामगारों के हक और अधिकारों की दास्तां को बयां करती हुई कविता 'आखिर कब तक'
Dr. Narendra Valmiki
कैसे यकीन करेगा कोई,
कैसे यकीन करेगा कोई,
Dr. Man Mohan Krishna
usne kuchh is tarah tarif ki meri.....ki mujhe uski tarif pa
usne kuchh is tarah tarif ki meri.....ki mujhe uski tarif pa
Rakesh Singh
"व्यक्ति जब अपने अंदर छिपी हुई शक्तियों के स्रोत को जान लेता
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
*****गणेश आये*****
*****गणेश आये*****
Kavita Chouhan
She never apologized for being a hopeless romantic, and endless dreamer.
She never apologized for being a hopeless romantic, and endless dreamer.
Manisha Manjari
एक कथित रंग के चादर में लिपटे लोकतंत्र से जीवंत समाज की कल्प
एक कथित रंग के चादर में लिपटे लोकतंत्र से जीवंत समाज की कल्प
Anil Kumar
काट  रहे  सब  पेड़   नहीं  यह, सोच  रहे  परिणाम भयावह।
काट रहे सब पेड़ नहीं यह, सोच रहे परिणाम भयावह।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
जाकर वहाँ मैं क्या करुँगा
जाकर वहाँ मैं क्या करुँगा
gurudeenverma198
* जगो उमंग में *
* जगो उमंग में *
surenderpal vaidya
तुम ख्वाब हो।
तुम ख्वाब हो।
Taj Mohammad
दुनिया की सबसे खूबसूरत चीज नींद है ,जो इंसान के कुछ समय के ल
दुनिया की सबसे खूबसूरत चीज नींद है ,जो इंसान के कुछ समय के ल
Ranjeet kumar patre
सावन‌ आया
सावन‌ आया
Neeraj Agarwal
पुस्तक समीक्षा -राना लिधौरी गौरव ग्रंथ
पुस्तक समीक्षा -राना लिधौरी गौरव ग्रंथ
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
अगर बात तू मान लेगा हमारी।
अगर बात तू मान लेगा हमारी।
सत्य कुमार प्रेमी
आदि शंकराचार्य
आदि शंकराचार्य
Shekhar Chandra Mitra
तुम आ जाते तो उम्मीद थी
तुम आ जाते तो उम्मीद थी
VINOD CHAUHAN
तंबाकू खाता रहा , जाने किस को कौन (कुंडलिया)
तंबाकू खाता रहा , जाने किस को कौन (कुंडलिया)
Ravi Prakash
स्वयं पर नियंत्रण कर विजय प्राप्त करने वाला व्यक्ति उस व्यक्
स्वयं पर नियंत्रण कर विजय प्राप्त करने वाला व्यक्ति उस व्यक्
Paras Nath Jha
एक
एक
हिमांशु Kulshrestha
15🌸बस तू 🌸
15🌸बस तू 🌸
Mahima shukla
"कश्मकश"
Dr. Kishan tandon kranti
बिगड़ता यहां परिवार देखिए........
बिगड़ता यहां परिवार देखिए........
SATPAL CHAUHAN
उजियार
उजियार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
भजन - माॅं नर्मदा का
भजन - माॅं नर्मदा का
अरविन्द राजपूत 'कल्प'
माँ
माँ
संजय कुमार संजू
2625.पूर्णिका
2625.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"New year की बधाई "
Yogendra Chaturwedi
नन्ही परी चिया
नन्ही परी चिया
Dr Archana Gupta
Loading...