Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

“जीवन की परिभाषा”

जीवन की परिभाषा ,
धुमिल होती जाती है |
अधियारा उजाले पर ,
हर पल छाता जाता है|
कोई करे उद्धार हमारा,
मानव निश दिन खोता जाता है |
स्वार्थ का तांडव ,
हर दिशा दिखाई देता है |
आदर्शों की शिक्षा,
व्यर्थ दिखाई देती है |
जीवन की परिभाषा ,
धुमिल होती जाती है|
सत्कर्मो से दूरी ,
हर क्षण बढती जाती है|
सिद्धांतहीन जीवन ,
हर तरफ दिखाई देता है |
फूलों को अब ,
काँटो सी चुभन होती है |
कलियों को अब,
हर पल विपद्द दिखाई देती है|
जीवन की परिभाषा ,
धुमिल होती जाती है |

…निधि…

392 Views
You may also like:
नेताओं के घर भी बुलडोजर चल जाए
Dr. Kishan Karigar
“ THANKS नहि श्रेष्ठ केँ प्रणाम करू “
DrLakshman Jha Parimal
फरिश्ता बन गए हो।
Taj Mohammad
जीने का नजरिया अंदर चाहिए।
Taj Mohammad
✍️तो ऐसा नहीं होता✍️
"अशांत" शेखर
Nature's beauty
Aditya Prakash
ईश्वर की जयघोश
AMRESH KUMAR VERMA
किस्मत की निठुराई....
डॉ.सीमा अग्रवाल
खत किस लिए रखे हो जला क्यों नहीं देते ।
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
ज्योति : रामपुर उत्तर प्रदेश का सर्वप्रथम हिंदी साप्ताहिक
Ravi Prakash
सच्चे मित्र की पहचान
Ram Krishan Rastogi
चलो स्वयं से इस नशे को भगाते हैं।
Taj Mohammad
बारिश
AMRESH KUMAR VERMA
भारत रत्न श्री नानाजी देशमुख ********
Ravi Prakash
*इस बार पार कर दो (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
घातक शत्रु
AMRESH KUMAR VERMA
धार्मिक आस्था एवं धार्मिक उन्माद !
Shyam Sundar Subramanian
✍️कलम और चमच✍️
"अशांत" शेखर
आखरी उत्तराधिकारी
Prabhudayal Raniwal
तलाश
Dr. Rajeev Jain
उन बिन, अँखियों से टपका जल।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
"हमारी मातृभाषा हिन्दी"
Prabhudayal Raniwal
मेरा जीवन
Anamika Singh
गुजर रही है जिंदगी अब ऐसे मुकाम से
Ram Krishan Rastogi
ये दुनियां पूंछती है।
Taj Mohammad
समय और रिश्ते।
Anamika Singh
जिंदगी जब भी भ्रम का जाल बिछाती है।
Manisha Manjari
मेरे पापा जैसे कोई....... है न ख़ुदा
Nitu Sah
पिता
Neha Sharma
आमाल।
Taj Mohammad
Loading...