Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Feb 2023 · 1 min read

जीवन अपना

जीवन अपना योग्य बनाओ ।
विशेष नहीं सर्वश्रेष्ठ बनाओ ।।

भीड़ में चलना ठीक नहीं है ।
पृथक अपनी पहचान बनाओ ।।

अपनी सुरक्षा हाथ हो अपने ।
स्वयं को ही हथियार बनाओ ।।

मांगना कैसा , देश है तेरा ।
अपना भी अधिकार बनाओ ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

10 Likes · 249 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
■ लीजिए संकल्प...
■ लीजिए संकल्प...
*Author प्रणय प्रभात*
भय के द्वारा ही सदा, शोषण सबका होय
भय के द्वारा ही सदा, शोषण सबका होय
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कहा था जिसे अपना दुश्मन सभी ने
कहा था जिसे अपना दुश्मन सभी ने
Johnny Ahmed 'क़ैस'
अश्रु की भाषा
अश्रु की भाषा
Shyam Sundar Subramanian
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
ख़ुद से हमको
ख़ुद से हमको
Dr fauzia Naseem shad
दिल का भी क्या कसूर है
दिल का भी क्या कसूर है
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
एक विचार पर हमेशा गौर कीजियेगा
एक विचार पर हमेशा गौर कीजियेगा
शेखर सिंह
तूफानों से लड़ना सीखो
तूफानों से लड़ना सीखो
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
शिक्षक
शिक्षक
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
"लहर"
Dr. Kishan tandon kranti
संक्रांति
संक्रांति
Harish Chandra Pande
Kuch nahi hai.... Mager yakin to hai  zindagi  kam hi  sahi.
Kuch nahi hai.... Mager yakin to hai zindagi kam hi sahi.
Rekha Rajput
फालतू की शान औ'र रुतबे में तू पागल न हो।
फालतू की शान औ'र रुतबे में तू पागल न हो।
सत्य कुमार प्रेमी
बहुत हुआ
बहुत हुआ
Mahender Singh
Dr Arun Kumar Shastri
Dr Arun Kumar Shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
राम बनना कठिन है
राम बनना कठिन है
Satish Srijan
श्रेष्ठता
श्रेष्ठता
Paras Nath Jha
अदाकारी
अदाकारी
Suryakant Dwivedi
💐प्रेम कौतुक-562💐
💐प्रेम कौतुक-562💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
स्वाभिमान
स्वाभिमान
अखिलेश 'अखिल'
खुद ही रोए और खुद ही चुप हो गए,
खुद ही रोए और खुद ही चुप हो गए,
Vishal babu (vishu)
अँधेरे में नहीं दिखता
अँधेरे में नहीं दिखता
Anil Mishra Prahari
राम तेरी माया
राम तेरी माया
Swami Ganganiya
6) “जय श्री राम”
6) “जय श्री राम”
Sapna Arora
23/129.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/129.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अलगौझा
अलगौझा
भवानी सिंह धानका "भूधर"
बखान गुरु महिमा की,
बखान गुरु महिमा की,
Yogendra Chaturwedi
कभी कभी
कभी कभी
Sûrëkhâ
****अपने स्वास्थ्य से प्यार करें ****
****अपने स्वास्थ्य से प्यार करें ****
Kavita Chouhan
Loading...