Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Feb 2023 · 1 min read

“जीना-मरना”

“जीना-मरना”
जीना, जीना, जीना
मगर पता नहीं
मरना सीखने के पहले
कितने लोग सही अर्थ में
जिन्दगी जी पाते हैं,
मरकर भी जो
दुनिया में अमर हो जाते हैं।
– डॉ. किशन टण्डन क्रान्ति

6 Likes · 2 Comments · 586 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
तुम्हीं रस्ता तुम्हीं मंज़िल
तुम्हीं रस्ता तुम्हीं मंज़िल
Monika Arora
जिंदगी की फितरत
जिंदगी की फितरत
Amit Pathak
सन्यासी
सन्यासी
Neeraj Agarwal
Watch who is there for you even when the birds have gone sil
Watch who is there for you even when the birds have gone sil
पूर्वार्थ
" तार हूं मैं "
Dr Meenu Poonia
मैं उसे अनायास याद आ जाऊंगा
मैं उसे अनायास याद आ जाऊंगा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
चलो रे काका वोट देने
चलो रे काका वोट देने
gurudeenverma198
ऐसा बदला है मुकद्दर ए कर्बला की ज़मी तेरा
ऐसा बदला है मुकद्दर ए कर्बला की ज़मी तेरा
shabina. Naaz
महिलाएं जितना तेजी से रो सकती है उतना ही तेजी से अपने भावनाओ
महिलाएं जितना तेजी से रो सकती है उतना ही तेजी से अपने भावनाओ
Rj Anand Prajapati
शीर्षक:-मित्र वही है
शीर्षक:-मित्र वही है
राधेश्याम " रागी "
" उज़्र " ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
"सुप्रभात"
Yogendra Chaturwedi
दो शब्द सही
दो शब्द सही
Dr fauzia Naseem shad
सोन चिरैया
सोन चिरैया
Mukta Rashmi
मार गई मंहगाई कैसे होगी पढ़ाई🙏✍️🙏
मार गई मंहगाई कैसे होगी पढ़ाई🙏✍️🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
समझदारी शांति से झलकती हैं, और बेवकूफ़ी अशांति से !!
समझदारी शांति से झलकती हैं, और बेवकूफ़ी अशांति से !!
Lokesh Sharma
खेल खिलाड़ी
खेल खिलाड़ी
Mahender Singh
प्रेम - पूजा
प्रेम - पूजा
Er.Navaneet R Shandily
पेड़ पौधे (ताटंक छन्द)
पेड़ पौधे (ताटंक छन्द)
नाथ सोनांचली
* मुझे क्या ? *
* मुझे क्या ? *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अक्सर सच्ची महोब्बत,
अक्सर सच्ची महोब्बत,
शेखर सिंह
सताता है मुझको मेरा ही साया
सताता है मुझको मेरा ही साया
Madhuyanka Raj
"चैन से इस दौर में बस वो जिए।
*प्रणय प्रभात*
जिस प्रकार लोहे को सांचे में ढालने पर उसका  आकार बदल  जाता ह
जिस प्रकार लोहे को सांचे में ढालने पर उसका आकार बदल जाता ह
Jitendra kumar
Digital Currency: Pros and Cons on the Banking System and Impact on Financial Transactions.
Digital Currency: Pros and Cons on the Banking System and Impact on Financial Transactions.
Shyam Sundar Subramanian
"चुम्बकीय शक्ति"
Dr. Kishan tandon kranti
हाइकु (#मैथिली_भाषा)
हाइकु (#मैथिली_भाषा)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
शब्द-वीणा ( समीक्षा)
शब्द-वीणा ( समीक्षा)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
ना मुराद फरीदाबाद
ना मुराद फरीदाबाद
ओनिका सेतिया 'अनु '
वो एक एहसास
वो एक एहसास
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
Loading...