Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Aug 2023 · 1 min read

जीतेंगे हम, हारेगा कोरोना

जीतेंगे हम, हारेगा कोरोना

आज गाँव सूना, नगर सूना
सूना अब सारा मुहल्ला है।
आजकल जिधर देखो उधर
बस कोरोना का ही हल्ला है।
अब तक की हालात ये कि
दिख रहा है जीतेगा कोरोना।
विश्वास रखिये वह दिन भी आएगा
जब जीतेंगे हम और हारेगा कोरोना।
भारतीय संस्कृति है बहुत महान
जिसमें है हर समस्या का निदान।
बस हमें रखना होगा ख्याल इतना
खुद बचकर, दूसरों को भी है बचाना।
सभी सरकारी निर्देशों को डरकर नहीं
मन से कर्त्तव्य समझकर है मानना।
मास्क और सेनिटाइजर के साथ सदा
सतत सोसल डिस्टेंसिंग बनाए रखना।
रखकर हमें सबके प्रति प्रेमभाव
फिजिकल डिस्टेंसिंग बनाए रखना।
हाय, हलो, हग संस्कृति को है छोड़ना
हमें छः फीट दूर से दोनों हाथ जोड़ना।
अति आवश्यक काम होने पर ही
हमको घर से है बाहर निकलना।
सर्दी, बुखार, खाँसी, साँस की समस्या पर
तुरंत नजदीकी अस्पताल में जांच कराना।
डॉक्टर साहब हमें जैसी सलाह दें
उसे हमको अक्षरशः है मानना।
जितनी भी है सामर्थ्य हमारी
जरूरतमंदों की है मदद करना।
सोसल मीडिया का उपयोग है करना
पर अफवाहों से है बचना और बचाना।
विश्वास रखिये वह दिन भी आएगा
जब जीतेंगे हम और हारेगा कोरोना।
– डॉ. प्रदीप कुमार शर्मा
रायपुर, छत्तीसगढ़

102 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बेरहमी
बेरहमी
Dr. Kishan tandon kranti
हाइकु - 1
हाइकु - 1
Sandeep Pande
💐प्रेम कौतुक-208💐
💐प्रेम कौतुक-208💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सावनी श्यामल घटाएं
सावनी श्यामल घटाएं
surenderpal vaidya
अंतराष्टीय मजदूर दिवस
अंतराष्टीय मजदूर दिवस
Ram Krishan Rastogi
तेरी ख़ुशबू
तेरी ख़ुशबू
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
गौभक्त और संकट से गुजरते गाय–बैल / मुसाफ़िर बैठा
गौभक्त और संकट से गुजरते गाय–बैल / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
मसला ये हैं कि ज़िंदगी उलझनों से घिरी हैं।
मसला ये हैं कि ज़िंदगी उलझनों से घिरी हैं।
ओसमणी साहू 'ओश'
श्राद्ध ही रिश्तें, सिच रहा
श्राद्ध ही रिश्तें, सिच रहा
Anil chobisa
मंथन
मंथन
Shyam Sundar Subramanian
शेष कुछ
शेष कुछ
Dr.Priya Soni Khare
तुम्हारी आंखों के आईने से मैंने यह सच बात जानी है।
तुम्हारी आंखों के आईने से मैंने यह सच बात जानी है।
शिव प्रताप लोधी
मुझे दूसरे के अखाड़े में
मुझे दूसरे के अखाड़े में
*Author प्रणय प्रभात*
मुझको मेरी लत लगी है!!!
मुझको मेरी लत लगी है!!!
सिद्धार्थ गोरखपुरी
कितनी हीं बार
कितनी हीं बार
Shweta Soni
When we constantly search outside of ourselves for fulfillme
When we constantly search outside of ourselves for fulfillme
Manisha Manjari
गरीबी तमाशा
गरीबी तमाशा
Dr fauzia Naseem shad
भूरा और कालू
भूरा और कालू
Vishnu Prasad 'panchotiya'
ज़िंदा हूं
ज़िंदा हूं
Sanjay ' शून्य'
*
*"मुस्कराहट"*
Shashi kala vyas
" जलचर प्राणी "
Dr Meenu Poonia
!! जानें कितने !!
!! जानें कितने !!
Chunnu Lal Gupta
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
// दोहा पहेली //
// दोहा पहेली //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बड्ड यत्न सँ हम
बड्ड यत्न सँ हम
DrLakshman Jha Parimal
माॅर्डन आशिक
माॅर्डन आशिक
Kanchan Khanna
थोड़ा दिन और रुका जाता.......
थोड़ा दिन और रुका जाता.......
Keshav kishor Kumar
जो ले जाये उस पार दिल में ऐसी तमन्ना न रख
जो ले जाये उस पार दिल में ऐसी तमन्ना न रख
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
*बड़े लोगों का रहता, रिश्वतों से मेल का जीवन (मुक्तक)*
*बड़े लोगों का रहता, रिश्वतों से मेल का जीवन (मुक्तक)*
Ravi Prakash
प्लास्टिक बंदी
प्लास्टिक बंदी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Loading...