Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#15 Trending Author
May 7, 2022 · 1 min read

जिसके सीने में जिगर होता है।

अंदाज़ ही उसका अलग होता है।
यूं जिसके सीने में जिगर होता है।।1।।

हवा का रुख खुद ही मुड़ जाता है।
शाहशाहे ए आगाज़ जुदा होता है।।2।।

बात कर रहे हो औकात देखने की।
दम वाला हर मौसम बदल देता है।।3।।

ना मिटेगी हस्ती जमानें से उसकी।
शेरे खुदा खुद में दुनियाँ रखता है।।4।।

दो चार को डराकर शेर नहीं होते।
खुद की गली में कुत्ता शेर होता है।।5।।

कुछ दौलत से हस्ती नहीं बनती है।
यूं तो बादल सहरा में भी बरसता है।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

1 Like · 169 Views
You may also like:
काश़ ! तुम मेरा
Dr fauzia Naseem shad
खुद को तुम पहचानों नारी ( भाग १)
Anamika Singh
नव विहान: सकारात्मकता का दस्तावेज
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
बेचारी ये जनता
शेख़ जाफ़र खान
दुनियां फना हो जानी है।
Taj Mohammad
जा बैठे
सिद्धार्थ गोरखपुरी
राष्ट्रवाद का रंग
मनोज कर्ण
✍️रास्ता मंज़िल का✍️
Vaishnavi Gupta
कल्पना
Anamika Singh
लता मंगेशकर
AMRESH KUMAR VERMA
एक सुबह की किरण
Deepak Baweja
BADA LADKA
Prasanjeetsharma065
किसी से ना कोई मलाल है।
Taj Mohammad
दोस्ती का एहसास होता है
Dr fauzia Naseem shad
वक्त की चौसर
Saraswati Bajpai
✍️तू डरा मत ऐ जिंदगी...✍️
'अशांत' शेखर
माँ वाणी की वंदना
Prakash Chandra
“ हम महान बनने की चाहत में लोगों से दूर...
DrLakshman Jha Parimal
बना कुंच से कोंच,रेल-पथ विश्रामालय।।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
रहे इहाँ जब छोटकी रेल
आकाश महेशपुरी
चाँद ......
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
आखिरी कोशिश
AMRESH KUMAR VERMA
देखो-देखो आया सावन।
लक्ष्मी सिंह
ब्रेक अप
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
" मेरा वतन "
Dr Meenu Poonia
गम देके।
Taj Mohammad
चुनौती
AMRESH KUMAR VERMA
जिंदगी का राज
Anamika Singh
JNU CAMPUS
मनोज शर्मा
देश के नौजवानों
Anamika Singh
Loading...