Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Aug 2023 · 1 min read

*जादू – टोना : वैज्ञानिक समीकरण*

डॉ अरुण कुमार शास्त्री – पूर्व निदेशक – आयुष – दिल्ली

कारीगरी हाँथ की या कोई चमत्कार ।
जादू – टोना कर के देखो तुम भी मेरे यार ।
ज्ञान है विज्ञान है या ये मात्र मज़ाक है ।
जादू – टोना कर के देखो तुम भी मेरे यार ।
एक रुपये से पैदा करना सैंकड़ों रुपये ।
रस्सी को परिवर्तित करना सर्प में विनय ।
खेल है बच्चों का या बड़ों का कमाल है ।
कारीगरी हाँथ की या कोई चमत्कार ।
खाली पीली टोप से निकाला गया जब कबूतर ।
तालियों की गड़गड़ाहट से झनझनाया वातावरण ।
लोग करने लगे वाह – वाह क्या कमाल है ।
लड़की को उड़ाया , हवा में , फिर गायब कर दिया ।
वाह रे बंगाली जादूगर तूने धमाल कर दिया ।
बीच से काट कर शरीर के दो हिस्से कर दिये ।
दूसरे ही पल जब घबराए लोग पुनः जोड़ दिये ।
साबुत लड़की फिर आई उड़ती हुई आसमान से ।
लोग तालियां बजा – बजा के पागल से हो गए ।
सच नाम का तो कोई अस्तित्व ही न रहा ।
ज्ञान है विज्ञान है या ये मात्र मज़ाक है ।
कारीगरी हाँथ की या फिर कोई चमत्कार है ।

Language: Hindi
397 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR ARUN KUMAR SHASTRI
View all
You may also like:
मौन मंजिल मिली औ सफ़र मौन है ।
मौन मंजिल मिली औ सफ़र मौन है ।
Arvind trivedi
बुंदेली दोहा -गुनताडौ
बुंदेली दोहा -गुनताडौ
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
माना मन डरपोक है,
माना मन डरपोक है,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
उलझन से जुझनें की शक्ति रखें
उलझन से जुझनें की शक्ति रखें
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
जिन्दगी का मामला।
जिन्दगी का मामला।
Taj Mohammad
उधेड़बुन
उधेड़बुन
मनोज कर्ण
आकाश दीप - (6 of 25 )
आकाश दीप - (6 of 25 )
Kshma Urmila
23/95.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/95.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
फूल यूहीं खिला नहीं करते कलियों में बीज को दफ़्न होना पड़ता
फूल यूहीं खिला नहीं करते कलियों में बीज को दफ़्न होना पड़ता
Lokesh Sharma
*एकांत*
*एकांत*
जगदीश लववंशी
हो रही है ये इनायतें,फिर बावफा कौन है।
हो रही है ये इनायतें,फिर बावफा कौन है।
पूर्वार्थ
19, स्वतंत्रता दिवस
19, स्वतंत्रता दिवस
Dr .Shweta sood 'Madhu'
एक ही तो, निशा बचा है,
एक ही तो, निशा बचा है,
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
■ ये हैं ठेकेदार
■ ये हैं ठेकेदार
*प्रणय प्रभात*
तू ठहर चांद हम आते हैं
तू ठहर चांद हम आते हैं
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
लहजा
लहजा
Naushaba Suriya
कृष्ण वंदना
कृष्ण वंदना
लक्ष्मी सिंह
"आत्मा की वीणा"
Dr. Kishan tandon kranti
*रामपुर के पाँच पुराने कवि*
*रामपुर के पाँच पुराने कवि*
Ravi Prakash
यह मेरी इच्छा है
यह मेरी इच्छा है
gurudeenverma198
रावण का परामर्श
रावण का परामर्श
Dr. Harvinder Singh Bakshi
*संवेदनाओं का अन्तर्घट*
*संवेदनाओं का अन्तर्घट*
Manishi Sinha
नाम लिख तो लिया
नाम लिख तो लिया
SHAMA PARVEEN
बहारें तो आज भी आती हैं
बहारें तो आज भी आती हैं
Ritu Asooja
గురువు కు వందనం.
గురువు కు వందనం.
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
🐍भुजंगी छंद🐍 विधान~ [यगण यगण यगण+लघु गुरु] ( 122 122 122 12 11वर्ण,,4 चरण दो-दो चरण समतुकांत]
🐍भुजंगी छंद🐍 विधान~ [यगण यगण यगण+लघु गुरु] ( 122 122 122 12 11वर्ण,,4 चरण दो-दो चरण समतुकांत]
Neelam Sharma
बहुत अंदर तक जला देती हैं वो शिकायतें,
बहुत अंदर तक जला देती हैं वो शिकायतें,
शेखर सिंह
स्टेटस
स्टेटस
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बादल गरजते और बरसते हैं
बादल गरजते और बरसते हैं
Neeraj Agarwal
My Guardian Angel!
My Guardian Angel!
R. H. SRIDEVI
Loading...