Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Aug 2016 · 1 min read

जाग युवा भारत के अब तो , ले आ वापिस देश की शान को

हो गयी गलतियां तुझसे अतीत में बेशक,
अब तो सम्भल जा वक्त है तेरे पास
बेदाग़ जिंदगी जी भोग विलास से हटकर
सफल कर जिंदगी और बाकी बचे श्वास
बहन बेटियों की इज्जत से न खेल तू
न देख टीवी पर हवस की रेल तू
गन्दगी है बेशक हर ओर
पर खुद की वीरता को बचाना है
काम वासना और नशे से बचकर
इतिहास जिंदादिली का लौटाना है
पल भर की हवस तेरी
उम्र भर राक्षस कहलाता है
न घर में रहती इज्जत तेरी
समाज में भी कोसा जाता है
भड़कीले तन बदन खींचे बेशक
तेरी वही परीक्षा कड़ी है
नागिन बन इन्द्रियां तेरे सामने
तेरी ताकत छिनने खड़ी है
दिखा दे जोर बाजुओं का
बहन बेटियों का कर आदर सत्कार
जो न चले सादगी पर बहन तेरी
उनको बेशक दिल से उतार
पर रेप जैसे गन्दे लफ्ज
तेरे दिमाग में न आने पाएं
तेरी बाजुओं के बल के किस्से
रेप को देश से दूर भगाएं
इज्जत से खेलना नही इंसानियत
नामर्दी की निशानी है
जी ले जोश और शान से बेटे
जब तक तेरी जवानी है
नशों और वैश्या के चक्कर में भी
क्यों खुद को बर्बाद करें
आगे बढ़ तरक्की की राहों पर
देश को भी तू आबाद कर
माँ बेटी तेरी भी है ये सोच रख याद
जैसे तड़पता है तू उनके आदर सम्मान को
जाग युवा भारत के अब तो
ले आ वापिस देश की शान को

Language: Hindi
1 Comment · 759 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from कृष्ण मलिक अम्बाला
View all
You may also like:
डिजिटलीकरण
डिजिटलीकरण
Seema gupta,Alwar
"जी लो जिन्दगी"
Dr. Kishan tandon kranti
मेरे हैं बस दो ख़ुदा
मेरे हैं बस दो ख़ुदा
The_dk_poetry
गर्द चेहरे से अपने हटा लीजिए
गर्द चेहरे से अपने हटा लीजिए
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
नींद आती है......
नींद आती है......
Kavita Chouhan
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
रै तमसा, तू कब बदलेगी…
रै तमसा, तू कब बदलेगी…
Anand Kumar
बेरोजगारी
बेरोजगारी
पंकज कुमार कर्ण
जब अपने सामने आते हैं तो
जब अपने सामने आते हैं तो
Harminder Kaur
तन्हां जो छोड़ जाओगे तो...
तन्हां जो छोड़ जाओगे तो...
Srishty Bansal
💐प्रेम कौतुक-350💐
💐प्रेम कौतुक-350💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
रिश्तों का गणित
रिश्तों का गणित
Madhavi Srivastava
जिंदगी एक आज है
जिंदगी एक आज है
Neeraj Agarwal
"हाय री कलयुग"
Dr Meenu Poonia
शब्द✍️ नहीं हैं अनकहे😷
शब्द✍️ नहीं हैं अनकहे😷
डॉ० रोहित कौशिक
"भीषण बाढ़ की वजह"
*Author प्रणय प्रभात*
बदतमीज
बदतमीज
DR ARUN KUMAR SHASTRI
23/205. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/205. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अगर सक्सेज चाहते हो तो रुककर पीछे देखना छोड़ दो - दिनेश शुक्
अगर सक्सेज चाहते हो तो रुककर पीछे देखना छोड़ दो - दिनेश शुक्
dks.lhp
मैं आजादी तुमको दूंगा,
मैं आजादी तुमको दूंगा,
Satish Srijan
सीख
सीख
Dr.Pratibha Prakash
मैं एक महल हूं।
मैं एक महल हूं।
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
*महाराज श्री अग्रसेन को, सौ-सौ बार प्रणाम है  【गीत】*
*महाराज श्री अग्रसेन को, सौ-सौ बार प्रणाम है 【गीत】*
Ravi Prakash
जीवन के रूप (कविता संग्रह)
जीवन के रूप (कविता संग्रह)
Pakhi Jain
কিছু ভালবাসার গল্প অমর হয়ে রয়
কিছু ভালবাসার গল্প অমর হয়ে রয়
Sakhawat Jisan
कुछ देर तुम ऐसे ही रहो
कुछ देर तुम ऐसे ही रहो
gurudeenverma198
शिवकुमार बिलगरामी के बेहतरीन शे'र
शिवकुमार बिलगरामी के बेहतरीन शे'र
Shivkumar Bilagrami
हम मिले थे जब, वो एक हसीन शाम थी
हम मिले थे जब, वो एक हसीन शाम थी
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
ज़िंदगी को अगर स्मूथली चलाना हो तो चु...या...पा में संलिप्त
ज़िंदगी को अगर स्मूथली चलाना हो तो चु...या...पा में संलिप्त
Dr MusafiR BaithA
उसको ख़ुद से ही ये गिला होगा ।
उसको ख़ुद से ही ये गिला होगा ।
Neelam Sharma
Loading...