Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 May 2024 · 1 min read

ज़िम्मेदार कौन है??

कभी जान थी इनमें भी
थीं मनमोहक सुंदर सी छवि
इन फूलों पत्तों में
बसती थी जान कभी
आज मुरझाईं है कलियां इनकी
कल तक थीं जो खिली खिली
कल तक जो रंगो से रंगी थी
आज़ बेजान सी पड़ी हुई हैं
इनके हालातों का ज़िम्मेदार कौन है
क्या ये ज़िम्मेदार हैं
नहीं इनकी क्या गलती है
क्या ये ख़ुद से ही ख़ुद को तोड़ सकती हैं
हां समय आनें पर ज़रूर मुरझाकर टूट जाती हैं
लेकिन किसी स्वार्थी ने इन्हें तोड़ा है
इन्हें ही नहीं इनकी सुंदरता को
इनकी महक को इनसे छीना है
अपने कोरे कागज़ के पन्नों को जो रंगना था
कल तक जिनमें जान थी
थी बहारें थी हरियाली
तोड़ते ही टूट गई बेजान सी आज़ हो गई
किसी को किसी की मर्जी के बिना तोड़ना
तोड़ता नहीं उसे बल्कि उसे ही तोड़ देता
सज़ा उम्र भर की बिना मांगे दे देता
प्यार खेल नहीं है खेल सकें
प्यार में मिट जाए आस्तित्व जो
वो प्यार नहीं एक हत्या है

_ सोनम पुनीत दुबे

1 Like · 48 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"खुद के खिलाफ़"
Dr. Kishan tandon kranti
पेड़
पेड़
Kanchan Khanna
एक दिन उसने यूं ही
एक दिन उसने यूं ही
Rachana
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
छुट्टी बनी कठिन
छुट्टी बनी कठिन
Sandeep Pande
*रखिए एक दिवस सभी, मोबाइल को बंद (कुंडलिया)*
*रखिए एक दिवस सभी, मोबाइल को बंद (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
अलिकुल की गुंजार से,
अलिकुल की गुंजार से,
sushil sarna
"घूंघट नारी की आजादी पर वह पहरा है जिसमे पुरुष खुद को सहज मह
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
पुस्तकें
पुस्तकें
डॉ. शिव लहरी
मेरे फितरत में ही नहीं है
मेरे फितरत में ही नहीं है
नेताम आर सी
प्रभु ने बनवाई रामसेतु माता सीता के खोने पर।
प्रभु ने बनवाई रामसेतु माता सीता के खोने पर।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
रंगों का नाम जीवन की राह,
रंगों का नाम जीवन की राह,
Neeraj Agarwal
स्त्री
स्त्री
Dinesh Kumar Gangwar
चोट ना पहुँचे अधिक,  जो वाक़ि'आ हो
चोट ना पहुँचे अधिक, जो वाक़ि'आ हो
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बेटी
बेटी
Dr Archana Gupta
अनजान दीवार
अनजान दीवार
Mahender Singh
किसी और से इश्क़ दुबारा नहीं होगा
किसी और से इश्क़ दुबारा नहीं होगा
Madhuyanka Raj
कभी एक तलाश मेरी खुद को पाने की।
कभी एक तलाश मेरी खुद को पाने की।
Manisha Manjari
आज़ाद हूं मैं
आज़ाद हूं मैं
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
दौर ऐसा हैं
दौर ऐसा हैं
SHAMA PARVEEN
मैं को तुम
मैं को तुम
Dr fauzia Naseem shad
किसी भी हाल में ये दिलक़शी नहीं होगी,,,,
किसी भी हाल में ये दिलक़शी नहीं होगी,,,,
Shweta Soni
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
अब तो आ जाओ सनम
अब तो आ जाओ सनम
Ram Krishan Rastogi
- शेखर सिंह
- शेखर सिंह
शेखर सिंह
गणेश वंदना
गणेश वंदना
Bodhisatva kastooriya
मन के भाव
मन के भाव
Surya Barman
पिता का यूं चले जाना,
पिता का यूं चले जाना,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
आसमाँ  इतना भी दूर नहीं -
आसमाँ इतना भी दूर नहीं -
Atul "Krishn"
"समय का महत्व"
Yogendra Chaturwedi
Loading...