Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Jun 2023 · 1 min read

बरसात

चंद झीटे झिडक कहती मै बरसात हू!
आसाम,बिहार मे, मै ही भितरघात हू!!
नही इसमे दोष हमारा सब तेरी करनी
कोई नगर विन्यास मानदंड न पात हू!!
बेतरतीब सडक,बाध औ कालौनिया!
अगणित टन रेत मलबे की सौगात हू!!
उथले हो गए सब नदिया,नाले,पोखर!
फिर कहा समायोजित जल प्रपात हू!!
प्रति वर्ष बाढ आपदा प्रबंधन पर खर्च,
पर नदियो के उथले होने का उत्पात हू!!

Language: Hindi
1 Like · 474 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Bodhisatva kastooriya
View all
You may also like:
तुम मुझे भुला ना पाओगे
तुम मुझे भुला ना पाओगे
Ram Krishan Rastogi
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस :इंस्पायर इंक्लूजन
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस :इंस्पायर इंक्लूजन
Dr.Rashmi Mishra
पवन
पवन
Dinesh Kumar Gangwar
धरती का बेटा
धरती का बेटा
Prakash Chandra
घणो ललचावे मन थारो,मारी तितरड़ी(हाड़ौती भाषा)/राजस्थानी)
घणो ललचावे मन थारो,मारी तितरड़ी(हाड़ौती भाषा)/राजस्थानी)
gurudeenverma198
दिल ऐसी चीज़ है जो किसी पर भी ग़ालिब हो सकती है..
दिल ऐसी चीज़ है जो किसी पर भी ग़ालिब हो सकती है..
पूर्वार्थ
बँटवारे का दर्द
बँटवारे का दर्द
मनोज कर्ण
डॉ अरुण कुमार शास्त्री -
डॉ अरुण कुमार शास्त्री -
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कर्म से विश्वाश जन्म लेता है,
कर्म से विश्वाश जन्म लेता है,
Sanjay ' शून्य'
*किसी को राय शुभ देना भी आफत मोल लेना है (मुक्तक)*
*किसी को राय शुभ देना भी आफत मोल लेना है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
बहे संवेदन रुप बयार🙏
बहे संवेदन रुप बयार🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
किरदार हो या
किरदार हो या
Mahender Singh
संसार चलाएंगी बेटियां
संसार चलाएंगी बेटियां
Shekhar Chandra Mitra
बेवफा
बेवफा
RAKESH RAKESH
वो इश्क की गली का
वो इश्क की गली का
साहित्य गौरव
■ स्वयं पर संयम लाभप्रद।
■ स्वयं पर संयम लाभप्रद।
*Author प्रणय प्रभात*
फूल
फूल
Neeraj Agarwal
साझ
साझ
Bodhisatva kastooriya
कभी-कभी
कभी-कभी
Ragini Kumari
उसकी सौंपी हुई हर निशानी याद है,
उसकी सौंपी हुई हर निशानी याद है,
Vishal babu (vishu)
गजल
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
सत्य और सत्ता
सत्य और सत्ता
विजय कुमार अग्रवाल
पराठों का स्वर्णिम इतिहास
पराठों का स्वर्णिम इतिहास
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
तू है तसुव्वर में तो ए खुदा !
तू है तसुव्वर में तो ए खुदा !
ओनिका सेतिया 'अनु '
जीना सिखा दिया
जीना सिखा दिया
Basant Bhagawan Roy
वक्त
वक्त
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
2994.*पूर्णिका*
2994.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"तेरा साथ है तो"
Dr. Kishan tandon kranti
पढ़ाकू
पढ़ाकू
Dr. Mulla Adam Ali
प्यारी तितली
प्यारी तितली
Dr Archana Gupta
Loading...