Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Oct 2023 · 1 min read

जवानी

हैं जवानी जान की, बात खान-पान की.
हौसले बुलंद हैं, बाजे ढोल मृदंग हैं..1
सनसनाहट कान में, जोश राष्ट्रगान में.
जिंदगी कुर्बान हैं, मेरा देश महान हैं..
सोलहवां साल हैं, अभिमान की बात हैं.
जिंदगी कुर्बान तुझपे, एकमात्र ख्वाब हैं..
हैं जवानी जान की, बात खान-पान की.
हौसले बुलंद हैं, बाजे ढोल मृदंग हैं..2
अंग-अंग फड़क रहे, अंगारे हैं बरस रहे.
जोश स्वाभिमान का, राष्ट्र के अभिमान का..
मां बाप का प्यार हैं, भाई बहिन का दुलार हैं.
रहे जवानी जब तक मेरी, सम्मान हिन्दुस्तान का..
हैं जवानी जान की, बात खान-पान की.
हौसले बुलंद हैं, बाजे ढोल मृदंग हैं..3
📝
लोधी श्याम सिंह तेजपुरिया
सर्वाधिकार सुरक्षित
14/10/2023

1 Like · 114 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नजरिया
नजरिया
नेताम आर सी
सिर्फ बेटियां ही नहीं बेटे भी घर छोड़ जाते है😥😥
सिर्फ बेटियां ही नहीं बेटे भी घर छोड़ जाते है😥😥
पूर्वार्थ
रमेशराज की माँ विषयक मुक्तछंद कविताएँ
रमेशराज की माँ विषयक मुक्तछंद कविताएँ
कवि रमेशराज
प्रेम ...
प्रेम ...
sushil sarna
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
'अशांत' शेखर
💐प्रेम कौतुक-473💐
💐प्रेम कौतुक-473💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चुनाव में मीडिया की भूमिका: राकेश देवडे़ बिरसावादी
चुनाव में मीडिया की भूमिका: राकेश देवडे़ बिरसावादी
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
देखी है ख़ूब मैंने भी दिलदार की अदा
देखी है ख़ूब मैंने भी दिलदार की अदा
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जीवन पुष्प की बगिया
जीवन पुष्प की बगिया
Buddha Prakash
एक प्रभावी वक्ता को
एक प्रभावी वक्ता को
*Author प्रणय प्रभात*
राहत के दीए
राहत के दीए
Dr. Pradeep Kumar Sharma
तारीखें पड़ती रहीं, हुए दशक बर्बाद (कुंडलिया)
तारीखें पड़ती रहीं, हुए दशक बर्बाद (कुंडलिया)
Ravi Prakash
धरा
धरा
Kavita Chouhan
हम हो जायेंगें दूर तूझसे,
हम हो जायेंगें दूर तूझसे,
$úDhÁ MãÚ₹Yá
"अहसासों का समीकरण"
Dr. Kishan tandon kranti
एकांत
एकांत
Monika Verma
24/245. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/245. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सुनो पहाड़ की...!!! (भाग - ९)
सुनो पहाड़ की...!!! (भाग - ९)
Kanchan Khanna
उत्थान राष्ट्र का
उत्थान राष्ट्र का
Er. Sanjay Shrivastava
चंद अशआर -ग़ज़ल
चंद अशआर -ग़ज़ल
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
कैमरे से चेहरे का छवि (image) बनाने मे,
कैमरे से चेहरे का छवि (image) बनाने मे,
Lakhan Yadav
इंतिज़ार
इंतिज़ार
Shyam Sundar Subramanian
जज़्बा क़ायम जिंदगी में
जज़्बा क़ायम जिंदगी में
Satish Srijan
हिंदी दिवस पर राष्ट्राभिनंदन
हिंदी दिवस पर राष्ट्राभिनंदन
Seema gupta,Alwar
बहाव के विरुद्ध कश्ती वही चला पाते जिनका हौसला अंबर की तरह ब
बहाव के विरुद्ध कश्ती वही चला पाते जिनका हौसला अंबर की तरह ब
Dr.Priya Soni Khare
मनुष्य को
मनुष्य को
ओंकार मिश्र
Parents-just an alarm
Parents-just an alarm
Sukoon
कर्म से विश्वाश जन्म लेता है,
कर्म से विश्वाश जन्म लेता है,
Sanjay ' शून्य'
परेशां सोच से
परेशां सोच से
Dr fauzia Naseem shad
दुआ
दुआ
Shekhar Chandra Mitra
Loading...