Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jun 2016 · 1 min read

*छंद*

*छंद*
न चीजें स्वदेशी जरा भा रही वेशभूषा स्वदेशी पै’ हँसते रहे हैं।
न संस्कृति स्वयं की जिन्हें रास आती स्वभाषा पै’ जो तंज कसते रहे हैं।
निराधार कहते कि वो राष्ट्र वादी फकत रोटियां तोडते ही रहे हैं।
अगर घेरना ठौर है देश भक्ती तो’ वे देशद्रोही भले जी रहे हैं।
अंकित शर्मा’ इषुप्रिय’
रामपुर कलाँ, सबलगढ(म.प्र.)

Language: Hindi
Tag: कविता
1 Comment · 289 Views
You may also like:
देखा है जब से तुमको
Ram Krishan Rastogi
अहा!नव सृजन की भोर है
नूरफातिमा खातून नूरी
भक्ता (#लोकमैथिली_हाइकु)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
माँ की ममता
gurudeenverma198
जीवन आनंद
Shyam Sundar Subramanian
राम राम
Sunita Gupta
मुख़ौटा_ओढ़कर
N.ksahu0007@writer
माँ का अनमोल प्रसाद
राकेश कुमार राठौर
*रामभक्त हनुमान (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
माँ वाणी की वंदना
Prakash Chandra
परिचय
Pakhi Jain
दामोदर लीला
Pooja Singh
फौजी
Dr Meenu Poonia
सच में शक्ति अकूत (गीत)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मेरी तस्वीर
Dr fauzia Naseem shad
✍️आसमाँ के परिंदे ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
✍️जुर्म संगीन था...✍️
'अशांत' शेखर
■ बधाई कोई रेवड़ी नहीं!
*Author प्रणय प्रभात*
कलम की नश्तर
Shekhar Chandra Mitra
उम्मीद की किरण
shabina. Naaz
तेरी रहबरी जहां में अच्छी लगे।
Taj Mohammad
रस्म
जय लगन कुमार हैप्पी
छुपकर
Dr.sima
प्रश्न पूछता है यह बच्चा
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
अति पिछड़ों का असली नेता कौन नरेंद्र मोदी या नीतीश...
Nilesh Kumar Soni
बाधाओं से लड़ना होगा
दशरथ रांकावत 'शक्ति'
💐💐साधने अपि लोभ: न करोतु💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आग
Anamika Singh
वो बचपन की बातें
Shyam Singh Lodhi (LR)
भारत रत्न डॉक्टर विश्वेश्वरैया अभियांत्रिकी दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...