Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

चूहा, हाथी और दुल्हन (बाल-कविता)

चूहा, हाथी और दुल्हन (बाल-कविता)
******************************
एक रोज चूहे राजा के दिल नें बात समाई,
अब तो मैं भी जवां हो गया कर लूं एक सगाई.

सोच-विचार गए चूहे जी हाथी भाई के घर,
भैया मेरा ब्याह रचा दो ना भूलूंगा जीवन भर.

हाथी बोला तब चूहे से- देखो चूहे भाई,
जिसने कर ली अपनी शादी उसकी शामत आयी.

चूहा बोला- मुझको अपना मीत समझ कर बोलो,
अच्छी सी इक दुल्हन लाकर रस मेरे जीवन में घोलो.

कई बार हाथी भाई ने चूहे को समझाया,
पर हाथी की बात को चूहा फिर भी समझ न पाया.

चूहे भाई ने हाथी की बात नही जब मानी,
उसको सबक सिखाने की हाथी ने मन में ठानी.

बोला, भाई चलो ठीक है तुम बारात सजाओ,
मैं दुल्हन को अभी सजाऊँ तुम दूल्हा बन कर आओ.

धूम-धड़ाके से पहुंची दुल्हन के घर बारात,
तब चूहे ने बड़े अकड़ कर कही जोर से अपनी बात.

भइया ! शादी से पहले मैं दुल्हन को देखूंगा,
जब मेरे मन को भायेगी तब ही ब्याह करूंगा.

तब चूहे जी बड़ी रौब से पास गए दुल्हन के,
और बढ़ाया हाथ उठाने घूंघट को, बन-ठन के.

घूंघट में बिल्ली मौसी को देख बहुत घबराए,
वापस जा बैठे घोड़ी पर घर को दौड़ लगाए.

**हरीश चन्द्र लोहुमी, लखनऊ (उ॰ प्र॰)**
*********************************************

3 Comments · 561 Views
You may also like:
श्रमिक जो हूँ मैं तो...
मनोज कर्ण
🙏विजयादशमी🙏
पंकज कुमार "कर्ण"
✍️Be Positive...!✍️
"अशांत" शेखर
अंधेरी रातों से अपनी रौशनी पाई है।
Manisha Manjari
# उम्मीद की किरण #
Dr. Alpa H. Amin
जो आया है इस जग में वह जाएगा।
Anamika Singh
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है। [भाग ७]
Anamika Singh
कभी अलविदा न कहेना....
Dr. Alpa H. Amin
“ कोरोना ”
DESH RAJ
कवि का परिचय( पं बृजेश कुमार नायक का परिचय)
Pt. Brajesh Kumar Nayak
गज़लें
AJAY PRASAD
जो भी संजोग बने संभालो खुद को....
Dr. Alpa H. Amin
प्रेम
Vikas Sharma'Shivaaya'
✍️ये अज़ीब इश्क़ है✍️
"अशांत" शेखर
जाने कहां वो दिन गए फसलें बहार के
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
"कर्मफल
Vikas Sharma'Shivaaya'
चाय-दोस्ती - कविता
Kanchan Khanna
बुंदेली दोहा-डबला
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मुस्कुराइये.....
Chandra Prakash Patel
गढ़वाली चित्रकार मौलाराम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
✍️थोड़ी मजाकियां✍️
"अशांत" शेखर
खेसारी लाल बानी
Ranjeet Kumar
उबारो हे शंकर !
Shailendra Aseem
सुभाष चंद्र बोस
Anamika Singh
लौटे स्वर्णिम दौर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
माँ
संजीव शुक्ल 'सचिन'
** दर्द की दास्तान **
Dr. Alpa H. Amin
खंडहर हुई यादें
VINOD KUMAR CHAUHAN
कर तू कोशिश कई....
Dr. Alpa H. Amin
एक तोला स्त्री
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
Loading...