Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jan 2024 · 1 min read

चाँद सी चंचल चेहरा🙏

चाँद सी चंचल चेहरा🙏
💐💐💐💐💐
नारी न निराश करो मन को
अद्भूत नगीना देती जग को
सौन्दर्य सुंदरता कुदरत की

रंग भरी रंगगोली प्रकृति की
सुन्दर काया समुंदर मन माया
चंचल चंचला चाँद सी चेहरा

ममता दया करूणा की सागर
बोली वाणी सहज स्वभाव मधुर
अमृत कलश भरी रुहानीजीवन

पवित्र निर्मल मधु दूजे साथी
निश्चल निर्मल ना आना कानी
जगत सहारा बन जीवन रेखा

स्वर्ग सुख स्वप्न परी सी काया
जग भाते सुंदर मूरत तेरी माया
स्वर्ग उतरी नारी सुंदरता की देवी

मधुर मधु एक दूजे के साथी
क्लेस कपट हीन भावों से भरी
जग जन जीते नारी तेरे सहारे

नारी पवित्र आप पालनहारी
वंश ऋषिट परंपरा रक्षाकारी
सत् नमन करता जग प्राणी
☘️🍀☘️🍀🍀🍀🍀
टी .पी . तरुण

Language: Hindi
1 Like · 51 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
View all
You may also like:
हिन्दी माई
हिन्दी माई
Sadanand Kumar
8) दिया दर्द वो
8) दिया दर्द वो
पूनम झा 'प्रथमा'
*उठा जो देह में जादू, समझ लो आई होली है (मुक्तक)*
*उठा जो देह में जादू, समझ लो आई होली है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
Hello
Hello
Yash mehra
गुमान किस बात का
गुमान किस बात का
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अपनी बुरी आदतों पर विजय पाने की खुशी किसी युद्ध में विजय पान
अपनी बुरी आदतों पर विजय पाने की खुशी किसी युद्ध में विजय पान
Paras Nath Jha
मुख  से  निकली पहली भाषा हिन्दी है।
मुख से निकली पहली भाषा हिन्दी है।
सत्य कुमार प्रेमी
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
खुशी ( Happiness)
खुशी ( Happiness)
Ashu Sharma
पतंग
पतंग
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
अब कुछ बचा नहीं बिकने को बाजार में
अब कुछ बचा नहीं बिकने को बाजार में
Ashish shukla
💐प्रेम कौतुक-418💐
💐प्रेम कौतुक-418💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
किरदार हो या
किरदार हो या
Mahender Singh
’शे’र’ : ब्रह्मणवाद पर / मुसाफ़िर बैठा
’शे’र’ : ब्रह्मणवाद पर / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
जय भोलेनाथ ।
जय भोलेनाथ ।
Anil Mishra Prahari
Mannato ka silsila , abhi jari hai, ruka nahi
Mannato ka silsila , abhi jari hai, ruka nahi
Sakshi Tripathi
कितने बड़े हैवान हो तुम
कितने बड़े हैवान हो तुम
मानक लाल मनु
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
बदलने को तो इन आंखों ने मंजर ही बदल डाले
बदलने को तो इन आंखों ने मंजर ही बदल डाले
हरवंश हृदय
एक नसीहत
एक नसीहत
Shyam Sundar Subramanian
तुम अगर कांटे बोओऐ
तुम अगर कांटे बोओऐ
shabina. Naaz
हे! नव युवको !
हे! नव युवको !
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
होके रहेगा इंक़लाब
होके रहेगा इंक़लाब
Shekhar Chandra Mitra
सुनाऊँ प्यार की सरग़म सुनो तो चैन आ जाए
सुनाऊँ प्यार की सरग़म सुनो तो चैन आ जाए
आर.एस. 'प्रीतम'
National YOUTH Day
National YOUTH Day
Tushar Jagawat
बगिया
बगिया
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
जो कुछ भी है आज है,
जो कुछ भी है आज है,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
■ मुक्तक...
■ मुक्तक...
*Author प्रणय प्रभात*
" जलाओ प्रीत दीपक "
Chunnu Lal Gupta
दोहे बिषय-सनातन/सनातनी
दोहे बिषय-सनातन/सनातनी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Loading...