Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Feb 2017 · 1 min read

चन्द्रशेखर वीरता का दूसरा पर्याय है

(पुण्यतिथि : २७ फरवरी १९३१)

चन्द्रशेखर वीरता का, दूसरा पर्याय है ।
हिन्द के इतिहास में इस, वीर का अध्याय है ।।
तन लुटाया, मन लुटाया, हो गया बलिदान ये ।
बन गया निज राष्ट्र का यश, गर्व अतिअभिमान ये।।१।।

जो प्रतिज्ञा कर गया, वह पूर्ण ये करता रहा ।
चन्द्र के हुंकार को सुन, ब्रिटिश दल डरता रहा ।।
हाथ आएगा न जीवित, पूर्ण ये प्रण कर गया ।
स्वयं को ही मार गोली, पार्क में ये मर गया।।

-सुरेश कुमार ‘सौरभ’
(छन्द :- गीतिका)

Language: Hindi
445 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
करवाचौथ
करवाचौथ
Neeraj Agarwal
हम सब में एक बात है
हम सब में एक बात है
Yash mehra
गुरु दीक्षा
गुरु दीक्षा
GOVIND UIKEY
स्वर्ग से सुंदर अपना घर
स्वर्ग से सुंदर अपना घर
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
कान्हा मन किससे कहे, अपने ग़म की बात ।
कान्हा मन किससे कहे, अपने ग़म की बात ।
Suryakant Dwivedi
#drarunkumarshastri
#drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पढ़े साहित्य, रचें साहित्य
पढ़े साहित्य, रचें साहित्य
संजय कुमार संजू
ज़िंदगी मौत,पर
ज़िंदगी मौत,पर
Dr fauzia Naseem shad
ड्यूटी
ड्यूटी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
है शारदे मां
है शारदे मां
नेताम आर सी
बढ़ना होगा
बढ़ना होगा
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
मेरा विज्ञान सफर
मेरा विज्ञान सफर
Ms.Ankit Halke jha
त्याग समर्पण न रहे, टूट ते परिवार।
त्याग समर्पण न रहे, टूट ते परिवार।
Anil chobisa
इश्क़ में कोई
इश्क़ में कोई
लक्ष्मी सिंह
2939.*पूर्णिका*
2939.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जीवन
जीवन
नवीन जोशी 'नवल'
*तानाजी पवार: जिनके हाथों में सोने और चॉंदी के टंच निकालने क
*तानाजी पवार: जिनके हाथों में सोने और चॉंदी के टंच निकालने क
Ravi Prakash
🌷मनोरथ🌷
🌷मनोरथ🌷
पंकज कुमार कर्ण
কুয়াশার কাছে শিখেছি
কুয়াশার কাছে শিখেছি
Sakhawat Jisan
बाल शिक्षा कविता पाठ / POET : वीरचन्द्र दास बहलोलपुरी
बाल शिक्षा कविता पाठ / POET : वीरचन्द्र दास बहलोलपुरी
Dr MusafiR BaithA
डिजिटल भारत
डिजिटल भारत
Satish Srijan
💐प्रेम कौतुक-466💐
💐प्रेम कौतुक-466💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गम और खुशी।
गम और खुशी।
Taj Mohammad
★याद न जाए बीते दिनों की★
★याद न जाए बीते दिनों की★
*Author प्रणय प्रभात*
जब दिल से दिल ही मिला नहीं,
जब दिल से दिल ही मिला नहीं,
manjula chauhan
होकर उल्लू पर सवार
होकर उल्लू पर सवार
Pratibha Pandey
लिख सकता हूँ ।।
लिख सकता हूँ ।।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
होली
होली
Kanchan Khanna
*होय जो सबका मंगल*
*होय जो सबका मंगल*
Poonam Matia
कोहरा और कोहरा
कोहरा और कोहरा
Ghanshyam Poddar
Loading...