Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 May 2023 · 1 min read

चंद एहसासात

जान कर भी अंजान से बन जाते हैं लोग ,
अपनों से भी अजनबी से बन जाते हैं लोग ,
ये वक्त का है तकाज़ा ,
या फ़ितरत का है नतीज़ा ,
इक नया चेहरा लगाकर पेश हो जाते है लोग ।

Language: Hindi
183 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Shyam Sundar Subramanian
View all
You may also like:
* जिन्दगी *
* जिन्दगी *
surenderpal vaidya
श्रद्धा के चिथड़े उड़ जाएं
श्रद्धा के चिथड़े उड़ जाएं
*Author प्रणय प्रभात*
दोहे
दोहे
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
आपकी खुशहाली और अच्छे हालात
आपकी खुशहाली और अच्छे हालात
Paras Nath Jha
कोई आपसे तब तक ईर्ष्या नहीं कर सकता है जब तक वो आपसे परिचित
कोई आपसे तब तक ईर्ष्या नहीं कर सकता है जब तक वो आपसे परिचित
Rj Anand Prajapati
एक सपना
एक सपना
Punam Pande
हे नाथ कहो
हे नाथ कहो
Dr.Pratibha Prakash
3014.*पूर्णिका*
3014.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Ek ladki udas hoti hai
Ek ladki udas hoti hai
Sakshi Tripathi
*बरसे एक न बूँद, मेघ क्यों आए काले ?*(कुंडलिया)
*बरसे एक न बूँद, मेघ क्यों आए काले ?*(कुंडलिया)
Ravi Prakash
*साँसों ने तड़फना कब छोड़ा*
*साँसों ने तड़फना कब छोड़ा*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मानवता
मानवता
Dr. Pradeep Kumar Sharma
दो शे'र ( अशआर)
दो शे'र ( अशआर)
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
The most awkward situation arises when you lie between such
The most awkward situation arises when you lie between such
Sukoon
(3) कृष्णवर्णा यामिनी पर छा रही है श्वेत चादर !
(3) कृष्णवर्णा यामिनी पर छा रही है श्वेत चादर !
Kishore Nigam
चांद से सवाल
चांद से सवाल
Nanki Patre
एक समय के बाद
एक समय के बाद
हिमांशु Kulshrestha
नया सवेरा
नया सवेरा
नन्दलाल सुथार "राही"
लोभी चाटे पापी के गाँ... कहावत / DR. MUSAFIR BAITHA
लोभी चाटे पापी के गाँ... कहावत / DR. MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
"ऐ मेरे बचपन तू सुन"
Dr. Kishan tandon kranti
आसान नहीं होता...
आसान नहीं होता...
Dr. Seema Varma
" सुर्ख़ गुलाब "
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
पैसा बोलता है
पैसा बोलता है
Mukesh Kumar Sonkar
कब तक कौन रहेगा साथी
कब तक कौन रहेगा साथी
Ramswaroop Dinkar
हर वर्ष जला रहे हम रावण
हर वर्ष जला रहे हम रावण
Dr Manju Saini
उसे पता है मुझे तैरना नहीं आता,
उसे पता है मुझे तैरना नहीं आता,
Vishal babu (vishu)
प्रेम की कहानी
प्रेम की कहानी
Er. Sanjay Shrivastava
वोट दिया किसी और को,
वोट दिया किसी और को,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
💐इश्क़ में फ़क़्र होना भी शर्त है💐
💐इश्क़ में फ़क़्र होना भी शर्त है💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कान में रुई डाले
कान में रुई डाले
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Loading...