Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Apr 2023 · 1 min read

घर-घर एसी लग रहे, बढ़ा धरा का ताप।

घर-घर एसी लग रहे, बढ़ा धरा का ताप।
हलक-अधर सब सूखते, कौन हरे संताप।।
© सीमा अग्रवाल
मुरादाबाद

Language: Hindi
1 Like · 264 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from डॉ.सीमा अग्रवाल
View all
You may also like:
Growth requires vulnerability.
Growth requires vulnerability.
पूर्वार्थ
वो गुलमोहर जो कभी, ख्वाहिशों में गिरा करती थी।
वो गुलमोहर जो कभी, ख्वाहिशों में गिरा करती थी।
Manisha Manjari
"जिन्दगी"
Dr. Kishan tandon kranti
आईना
आईना
Dr Parveen Thakur
गुरुजन को अर्पण
गुरुजन को अर्पण
Rajni kapoor
एहसान
एहसान
Paras Nath Jha
तुम मेरे बाद भी
तुम मेरे बाद भी
Dr fauzia Naseem shad
చివరికి మిగిలింది శూన్యమే
చివరికి మిగిలింది శూన్యమే
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
💐प्रेम कौतुक-559💐
💐प्रेम कौतुक-559💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
रक्तदान
रक्तदान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
श्रीराम
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
असमान शिक्षा केंद्र
असमान शिक्षा केंद्र
Sanjay ' शून्य'
* सामने बात आकर *
* सामने बात आकर *
surenderpal vaidya
*हमेशा जिंदगी की एक, सी कब चाल होती है (हिंदी गजल)*
*हमेशा जिंदगी की एक, सी कब चाल होती है (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
राधा कृष्ण होली भजन
राधा कृष्ण होली भजन
Khaimsingh Saini
3173.*पूर्णिका*
3173.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ध्यान एकत्र
ध्यान एकत्र
शेखर सिंह
Aaj samna khud se kuch yun hua aankho m aanshu thy aaina ru-
Aaj samna khud se kuch yun hua aankho m aanshu thy aaina ru-
Sangeeta Sangeeta
जाती नहीं है क्यों, तेरी याद दिल से
जाती नहीं है क्यों, तेरी याद दिल से
gurudeenverma198
जिंदगी में अगर आपको सुकून चाहिए तो दुसरो की बातों को कभी दिल
जिंदगी में अगर आपको सुकून चाहिए तो दुसरो की बातों को कभी दिल
Ranjeet kumar patre
*** चोर ***
*** चोर ***
Chunnu Lal Gupta
जिनके जानें से जाती थी जान भी मैंने उनका जाना भी देखा है अब
जिनके जानें से जाती थी जान भी मैंने उनका जाना भी देखा है अब
Vishvendra arya
Bundeli Doha - birra
Bundeli Doha - birra
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बची रहे संवेदना...
बची रहे संवेदना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
समय संवाद को लिखकर कभी बदला नहीं करता
समय संवाद को लिखकर कभी बदला नहीं करता
Shweta Soni
कोरोना तेरा शुक्रिया
कोरोना तेरा शुक्रिया
Sandeep Pande
आपका आकाश ही आपका हौसला है
आपका आकाश ही आपका हौसला है
Neeraj Agarwal
गुमाँ हैं हमको हम बंदर से इंसाँ बन चुके हैं पर
गुमाँ हैं हमको हम बंदर से इंसाँ बन चुके हैं पर
Johnny Ahmed 'क़ैस'
■ आज का विचार...
■ आज का विचार...
*Author प्रणय प्रभात*
क्यों करते हो गुरुर अपने इस चार दिन के ठाठ पर
क्यों करते हो गुरुर अपने इस चार दिन के ठाठ पर
Sandeep Kumar
Loading...