Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jun 2016 · 1 min read

ग़ज़ल :– जब तक हिम्मत है हार नहीँ मानूंगा !!

ग़ज़ल :– जब तक हिम्मत है हार नहीं मानूंगा !!

इक वार तो क्या ….सौ वार नहीं मानूंगा
जबतक हिम्मत है मै हार नहीं मानूँग!!

गिरूं चाहे हर वार सम्हलना भी मुश्किल हो !
अपनी कोशिश को बेकार नही मानूंगा !!

दुनियां चाहे तो मुझको सौ बार मिटादे !
कभी इरादों से अपने प्रतिकार नही मानूंगा !!

भवन बनाती बुनियादें छोटे-छोटे पत्थर की !
ठोकर को अमिट प्रयासों की मार नहीं मानूंगा !!

मैखाने में बेख़ुद होकर लोग पड़े रहते हैं !
कहलें कुछ भी लोग उसे घर-बार नहीं मानूंगा !!

गज़लकार :– अनुज तिवारी “इन्दवार”

4 Comments · 440 Views
You may also like:
गणतंत्र दिवस
Aditya Prakash
*सुप्रभात की सुगंध*
विजय कुमार 'विजय'
संडे की व्यथा
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
💐💐रसबुद्धि:💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दुःख के संसार में
Buddha Prakash
एक ज़िंदा मुल्क
Shekhar Chandra Mitra
प्रेम का फिर कष्ट क्यों यह, पर्वतों सा लग रहा...
संजीव शुक्ल 'सचिन'
आईने की तरह मैं तो बेजान हूँ
सन्तोष कुमार विश्वकर्मा 'सूर्य'
ये उम्मीद की रौशनी, बुझे दीपों को रौशन कर जातीं...
Manisha Manjari
मेरी ईद करा दो।
Taj Mohammad
कभी मज़बूत नहीं होते
Dr fauzia Naseem shad
* साम वेदना *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Though of the day 😇
ASHISH KUMAR SINGH
अपना कंधा अपना सर
विजय कुमार अग्रवाल
आसमान से ऊपर और जमीं के नीचे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
इश्क रोग
Dushyant Kumar
मेरे सपने
सूर्यकांत द्विवेदी
✍️Be Positive...!✍️
'अशांत' शेखर
एक पत्नि की मन की भावना
Ram Krishan Rastogi
कौन लोग थे
Kaur Surinder
✍️वो अच्छे से समझता है ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
चले आओ तुम्हारी ही कमी है।
सत्य कुमार प्रेमी
तेरी बाहों के घेरे
VINOD KUMAR CHAUHAN
छत्रपति शिवाजी महाराज V/s संसार में तथाकथित महान समझे जाने...
Pravesh Shinde
दीप संग दीवाली आई
डॉ. शिव लहरी
पैसा
Sushil chauhan
मीठी-मीठी बातें
AMRESH KUMAR VERMA
*बड़े लोग (मुक्तक)*
Ravi Prakash
दुनिया
Rashmi Sanjay
“ एक अमर्यादित शब्द के बोलने से महानायक खलनायक बन...
DrLakshman Jha Parimal
Loading...