Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

ग़ज़ल(दिल की बातें)

ग़ज़ल(दिल की बातें)

जिनका प्यार पाने में हमको ज़माने लगे
बो अब नजरें मिला के मुस्कराने लगे

राज दिल का कभी जो छिपाते थे हमसे
बातें दिल की हमें बो बताने लगे

अपना बनाने को सोचा था जिनको
बो अपना हमें अब बनाने लगे

जिनको देखे बिना आँखे रहती थी प्यासी
बो अब नजरों से हमको पिलाने लगे

जब जब देखा उन्हें उनसे नजरें मिली
गीत हमसे खुद ब खुद बन जाने लगे

प्यार पाकर के जबसे प्यारी दुनिया रचाई
क्यों हम दुनिया को तब से भुलाने लगे

गीत ग़ज़ल जिसने भी मेरे देखे या सुने
तब से शायर बह हमको बताने लगे

हाल देखा मेरा तो दुनिया बाले ये बोले
मदन हमको तो दुनिया से बेगाने लगे

मदन मोहन सक्सेना

1 Comment · 151 Views
You may also like:
पिता - नीम की छाँव सा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
"साहिल"
Dr. Alpa H. Amin
अस्मतों के बाज़ार लग गए हैं।
Taj Mohammad
✍️जमाना नहीं रहा...✍️
"अशांत" शेखर
💐💐प्रेम की राह पर-18💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गंगा दशहरा
श्री रमण
मैं हो गई पराई.....
Dr. Alpa H. Amin
सुकून सा ऐहसास...
Dr. Alpa H. Amin
🍀🌺प्रेम की राह पर-51🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
वफा की मोहब्बत।
Taj Mohammad
बाबू जी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मेरी बेटी
Anamika Singh
स्वप्न-साकार
Prabhudayal Raniwal
घृणित नजर
Dr Meenu Poonia
✍️✍️तो सूर्य✍️✍️
"अशांत" शेखर
💐 देह दलन 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ईश्वरतत्वीय वरदान"पिता"
Archana Shukla "Abhidha"
वक्त और दिन
DESH RAJ
हम भारत के लोग
Mahender Singh Hans
काव्य संग्रह
AJAY PRASAD
कभी हम भी।
Taj Mohammad
अनमोल घड़ी
Prabhudayal Raniwal
All I want to say is good bye...
Abhineet Mittal
इन्सानियत ज़िंदा है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
दिल्लगी दिल से होती है।
Taj Mohammad
तुम जो मिल गई हो।
Taj Mohammad
माँ
Dr. Meenakshi Sharma
चिड़िया रानी
Buddha Prakash
ईमानदारी
Utsav Kumar Aarya
Loading...