Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Mar 2024 · 1 min read

गरिमामय प्रतिफल

अभिभूत भावनाओं के चरमोत्कर्ष पर जिसका
उदय होता है,

अंतस्थ से यह उभरता है, और व्यवहार में
दृष्टिगोचर होता है ,

पवित्र वाणी एवं विचारों से यह सुशोभित होता है ,
पात्रता आकलन के मंच पर गहन मंथन की प्रक्रिया से यह निर्धारित होता है ,

गरिमामय यह प्रतिफल, अन्तर्निहित संस्कार,
पवित्र आचार ,विचार एवं व्यवहार से परिपूर्ण
कुछ विरलों द्वारा अर्जित किया जाता है ,

वरना दैनिक जीवन में औपचारिकता को भी दृष्टिभ्रम से सम्मान मान लिया जाता है ।

2 Likes · 41 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Shyam Sundar Subramanian
View all
You may also like:
ज़िदादिली
ज़िदादिली
Shyam Sundar Subramanian
"प्यार के दीप" गजल-संग्रह और उसके रचयिता ओंकार सिंह ओंकार
Ravi Prakash
वक्त थमा नहीं, तुम कैसे थम गई,
वक्त थमा नहीं, तुम कैसे थम गई,
लक्ष्मी सिंह
मुझे मेरी फितरत को बदलना है
मुझे मेरी फितरत को बदलना है
Basant Bhagawan Roy
क्या करते हो?
क्या करते हो?
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
'अशांत' शेखर
यादें मोहब्बत की
यादें मोहब्बत की
Mukesh Kumar Sonkar
महाकाल
महाकाल
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
✍🏻 ■ रसमय दोहे...
✍🏻 ■ रसमय दोहे...
*Author प्रणय प्रभात*
भीड़ के साथ
भीड़ के साथ
Paras Nath Jha
संसार का स्वरूप (2)
संसार का स्वरूप (2)
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
पहला प्यार
पहला प्यार
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
सारी दुनिया में सबसे बड़ा सामूहिक स्नान है
सारी दुनिया में सबसे बड़ा सामूहिक स्नान है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हाय हाय रे कमीशन
हाय हाय रे कमीशन
gurudeenverma198
मेरी बेटियाँ और उनके आँसू
मेरी बेटियाँ और उनके आँसू
DESH RAJ
पल परिवर्तन
पल परिवर्तन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
राजकुमारी कार्विका
राजकुमारी कार्विका
Anil chobisa
मोमबत्ती जब है जलती
मोमबत्ती जब है जलती
Buddha Prakash
मेहनत
मेहनत
Dr. Pradeep Kumar Sharma
धृतराष्ट्र की आत्मा
धृतराष्ट्र की आत्मा
ओनिका सेतिया 'अनु '
किसी भी देश काल और स्थान पर भूकम्प आने का एक कारण होता है मे
किसी भी देश काल और स्थान पर भूकम्प आने का एक कारण होता है मे
Rj Anand Prajapati
मां
मां
Sûrëkhâ
ख़्याल
ख़्याल
Dr. Seema Varma
घृणा आंदोलन बन सकती है, तो प्रेम क्यों नहीं?
घृणा आंदोलन बन सकती है, तो प्रेम क्यों नहीं?
Dr MusafiR BaithA
3413⚘ *पूर्णिका* ⚘
3413⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
काफी लोगो ने मेरे पढ़ने की तेहरिन को लेकर सवाल पूंछा
काफी लोगो ने मेरे पढ़ने की तेहरिन को लेकर सवाल पूंछा
पूर्वार्थ
DR ARUN KUMAR SHASTRI
DR ARUN KUMAR SHASTRI
DR ARUN KUMAR SHASTRI
राम आ गए
राम आ गए
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
मुस्कान
मुस्कान
नवीन जोशी 'नवल'
"डिब्बा बन्द"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...