Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jan 2024 · 1 min read

गणपति

दोहे
गणपति

प्रथम पूज्य गिरजा तनय,कोटि सूर्य सम आभ।
विघ्नविनाशक आप हैं,जीवन के शुभ लाभ।

लंबोदर गजकर्ण का,विघ्नविनाशक रूप।
सिद्ध सभी कारज करें,पावन रूप अनूप।

शंकर सुत हे विश्वमुख,हे गणराज विशाल।
विघ्न हरो विघ्नेश तुम,हे प्रभु दीनदयाल।

संकट मोचन गणपति,प्रिय मोदक का भोग।
सकल कामना सिद्ध हो,सिद्धि विनायक योग।

शिवनंदन प्रभु गज वदन,रिद्धि सिद्धि के नाथ।
श्री गणेश के चरण में,झुका रहे ये माथ।

सुशील शर्मा

Language: Hindi
52 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
फितरत को पहचान कर भी
फितरत को पहचान कर भी
Seema gupta,Alwar
सादगी
सादगी
राजेंद्र तिवारी
"आत्ममुग्धता"
Dr. Kishan tandon kranti
अब गांव के घर भी बदल रहे है
अब गांव के घर भी बदल रहे है
पूर्वार्थ
अच्छा लगने लगा है उसे
अच्छा लगने लगा है उसे
Vijay Nayak
#justareminderdrarunkumarshastri
#justareminderdrarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ज़बानें हमारी हैं, सदियों पुरानी
ज़बानें हमारी हैं, सदियों पुरानी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
5. इंद्रधनुष
5. इंद्रधनुष
Rajeev Dutta
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
आज का यथार्थ~
आज का यथार्थ~
दिनेश एल० "जैहिंद"
*SPLIT VISION*
*SPLIT VISION*
Poonam Matia
कविता -दो जून
कविता -दो जून
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
परोपकार
परोपकार
Raju Gajbhiye
भूल जाऊं तुझे भूल पता नहीं
भूल जाऊं तुझे भूल पता नहीं
VINOD CHAUHAN
वासना और करुणा
वासना और करुणा
मनोज कर्ण
मौके पर धोखे मिल जाते ।
मौके पर धोखे मिल जाते ।
Rajesh vyas
#लघुकथा-
#लघुकथा-
*प्रणय प्रभात*
2540.पूर्णिका
2540.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
इबादत आपकी
इबादत आपकी
Dr fauzia Naseem shad
तुम्हारे महबूब के नाजुक ह्रदय की तड़पती नसों की कसम।
तुम्हारे महबूब के नाजुक ह्रदय की तड़पती नसों की कसम।
★ IPS KAMAL THAKUR ★
भूल जा वह जो कल किया
भूल जा वह जो कल किया
gurudeenverma198
बह्र ## 2122 2122 2122 212 फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलुन काफिया ## चुप्पियाँ (इयाँ) रदीफ़ ## बिना रदीफ़
बह्र ## 2122 2122 2122 212 फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलुन काफिया ## चुप्पियाँ (इयाँ) रदीफ़ ## बिना रदीफ़
Neelam Sharma
राम जैसा मनोभाव
राम जैसा मनोभाव
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
बाल कविता : बादल
बाल कविता : बादल
Rajesh Kumar Arjun
होली
होली
लक्ष्मी सिंह
नया साल
नया साल
Arvina
Even If I Ever Died
Even If I Ever Died
Manisha Manjari
*आस्था*
*आस्था*
Dushyant Kumar
खिड़की के बाहर दिखती पहाड़ी
खिड़की के बाहर दिखती पहाड़ी
Awadhesh Singh
एक टहनी एक दिन पतवार बनती है,
एक टहनी एक दिन पतवार बनती है,
Slok maurya "umang"
Loading...