Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Feb 2017 · 1 min read

गणतंत्र मुबारक हो तुमको

“हर चौराहे पे जहां सीता लुटी जाये
और चंद रुपयो मे वर्दी बीक जाये
नेताओ के ऐश मे देश बलि हो जाये
वह गणतंत्र मुबारक हो तुमको ,

जहां गरीब से रोटी छिनी जाये
और कानून दुश्मन बनके डराये
न्याय के लिये उम्र छोटी पड जाये
वह गणतंत्र मुबारक हो तुमको ,

भ्रष्टाचारी और बलात्कारी नेता
कानून कि गोद मे बैठ बंसी बजाये
और अफसर जो सहज बीक जाये
वह गणतंत्र मुबारक हो तुमको ,

गरीबो का हक मारके खाने वाले
कठपुतली बने देश पूंजीपतियो कि
और सब नरभक्षक शासक बन जाये
वह गणतंत्र मुबारक तुमको हो ,

जहां पर न्याय बिकता हो पैसो मे
देश का यौवन लुटता हो क्लेशो मे
जातीवाद निरन्तर फैलाने वाला
वह गणतंत्र मुबारक हो तुमको ॥ “

Language: Hindi
324 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बह्र ## 2122 2122 2122 212 फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलुन काफिया ## चुप्पियाँ (इयाँ) रदीफ़ ## बिना रदीफ़
बह्र ## 2122 2122 2122 212 फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलुन काफिया ## चुप्पियाँ (इयाँ) रदीफ़ ## बिना रदीफ़
Neelam Sharma
हिंदी दोहे- कलंक
हिंदी दोहे- कलंक
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
चाँद पूछेगा तो  जवाब  क्या  देंगे ।
चाँद पूछेगा तो जवाब क्या देंगे ।
sushil sarna
कोशिशों में तेरी
कोशिशों में तेरी
Dr fauzia Naseem shad
"मौका मिले तो"
Dr. Kishan tandon kranti
Pardushan
Pardushan
ASHISH KUMAR SINGH
मैं तुझे खुदा कर दूं।
मैं तुझे खुदा कर दूं।
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
एक दिन मजदूरी को, देते हो खैरात।
एक दिन मजदूरी को, देते हो खैरात।
Manoj Mahato
Hard work is most important in your dream way
Hard work is most important in your dream way
Neeleshkumar Gupt
*भारत माता की महिमा को, जी-भर गाते मोदी जी (हिंदी गजल)*
*भारत माता की महिमा को, जी-भर गाते मोदी जी (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
सुंदर विचार
सुंदर विचार
Jogendar singh
प्रेम
प्रेम
Dr.Archannaa Mishraa
"परिस्थिति विपरीत थी ll
पूर्वार्थ
जब सहने की लत लग जाए,
जब सहने की लत लग जाए,
शेखर सिंह
देखी नहीं है कोई तुम सी, मैंने अभी तक
देखी नहीं है कोई तुम सी, मैंने अभी तक
gurudeenverma198
प्यारा हिन्दुस्तान
प्यारा हिन्दुस्तान
Dinesh Kumar Gangwar
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
शाम सुहानी
शाम सुहानी
लक्ष्मी सिंह
बड़े ही खुश रहते हो
बड़े ही खुश रहते हो
VINOD CHAUHAN
बारिश की मस्ती
बारिश की मस्ती
Shaily
"स्वप्न".........
Kailash singh
2 जून की रोटी की खातिर जवानी भर मेहनत करता इंसान फिर बुढ़ापे
2 जून की रोटी की खातिर जवानी भर मेहनत करता इंसान फिर बुढ़ापे
Harminder Kaur
मुक्तक
मुक्तक
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
इश्क़ चाहत की लहरों का सफ़र है,
इश्क़ चाहत की लहरों का सफ़र है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
तत्काल लाभ के चक्कर में कोई ऐसा कार्य नहीं करें, जिसमें धन भ
तत्काल लाभ के चक्कर में कोई ऐसा कार्य नहीं करें, जिसमें धन भ
Paras Nath Jha
महाकाल का संदेश
महाकाल का संदेश
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
23/86.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/86.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
भावनाओं का प्रबल होता मधुर आधार।
भावनाओं का प्रबल होता मधुर आधार।
surenderpal vaidya
ख़ास विपरीत परिस्थिति में सखा
ख़ास विपरीत परिस्थिति में सखा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
गणेश चतुर्थी
गणेश चतुर्थी
Surinder blackpen
Loading...