Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Dec 2022 · 1 min read

गजल

तुम्हारे पास जो है, वह हमारा हो भी सकता है।
जो तुमसे दूर है लेकिन तुम्हारा हो भी सकता है।
चले आओ बदल डालो मेरे हालात को मोहसिन।
बहुत रंगीन मौसम का नजारा हो भी सकता है।
जिसे तुमने समझ रखा है मेरे प्यार का जुगनू।
मेरी किस्मत का वो ऊंचा सितारा हो भी सकता है।
जिन्होंने बेवफाई की उन्हें भी प्यार से देखो।
किसी को इश्क लेकिन फिर दोबारा हो भी सकता है।
तेरी मासूम आंखों ने हमारी सिम्त देखा है।
हमारे साथ रहने का इशारा हो भी सकता है।
तुम्हारे प्यार के बदले में मैंने कर लिया सौदा।
मुनाफा हो भी सकता है खसारा हो भी सकता है।
हमारे पास हों मुमकिन नहीं हर वक्त तुम लेकिन।
तेरी यादों पे मेरी जां गुजारा हो भी सकता है।
सगीर अक्सर अकेले में उसे महसूस करता हूं
तेरी तस्वीर का मुझको सहारा हो भी सकता है।

154 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
किताबों की वापसी
किताबों की वापसी
Shekhar Chandra Mitra
"कइयों को जिसकी शक़्ल में,
*Author प्रणय प्रभात*
कहीं भी जाइए
कहीं भी जाइए
Ranjana Verma
प्रेम की डोर सदैव नैतिकता की डोर से बंधती है और नैतिकता सत्क
प्रेम की डोर सदैव नैतिकता की डोर से बंधती है और नैतिकता सत्क
Sanjay ' शून्य'
*रहेगा सर्वदा जीवन, सभी को एक यह भ्रम है (मुक्तक)*
*रहेगा सर्वदा जीवन, सभी को एक यह भ्रम है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
मेरी कमज़ोरी अब नहीं कोई
मेरी कमज़ोरी अब नहीं कोई
Dr fauzia Naseem shad
श्री राम भक्ति सरिता (दोहावली)
श्री राम भक्ति सरिता (दोहावली)
Vishnu Prasad 'panchotiya'
बहुत दिनों के बाद उनसे मुलाकात हुई।
बहुत दिनों के बाद उनसे मुलाकात हुई।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
वो कत्ल कर दिए,
वो कत्ल कर दिए,
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
रौशनी अकूत अंदर,
रौशनी अकूत अंदर,
Satish Srijan
लोगों के दिलों में बसना चाहते हैं
लोगों के दिलों में बसना चाहते हैं
Harminder Kaur
"कैसे कह दें"
Dr. Kishan tandon kranti
"दीप जले"
Shashi kala vyas
नैनों में प्रिय तुम बसे....
नैनों में प्रिय तुम बसे....
डॉ.सीमा अग्रवाल
दुख से बचने का एक ही उपाय है
दुख से बचने का एक ही उपाय है
ruby kumari
'मेरे बिना'
'मेरे बिना'
नेहा आज़ाद
पंछियों का कलरव सुनाई ना देगा
पंछियों का कलरव सुनाई ना देगा
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
24/236. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/236. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
💐प्रेम कौतुक-479💐
💐प्रेम कौतुक-479💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सुस्त हवाओं की उदासी, दिल को भारी कर जाती है।
सुस्त हवाओं की उदासी, दिल को भारी कर जाती है।
Manisha Manjari
हम बात अपनी सादगी से ही रखें ,शालीनता और शिष्टता कलम में हम
हम बात अपनी सादगी से ही रखें ,शालीनता और शिष्टता कलम में हम
DrLakshman Jha Parimal
निभा गये चाणक्य सा,
निभा गये चाणक्य सा,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
The wrong partner in your life will teach you that you can d
The wrong partner in your life will teach you that you can d
पूर्वार्थ
नारी और वर्तमान
नारी और वर्तमान
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
दस लक्षण पर्व
दस लक्षण पर्व
Seema gupta,Alwar
सच तो हम इंसान हैं
सच तो हम इंसान हैं
Neeraj Agarwal
*जी रहें हैँ जिंदगी किस्तों में*
*जी रहें हैँ जिंदगी किस्तों में*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
जीवन दुखों से भरा है जीवन के सभी पक्षों में दुख के बीज सम्मि
जीवन दुखों से भरा है जीवन के सभी पक्षों में दुख के बीज सम्मि
Ms.Ankit Halke jha
तेरा यूं मुकर जाना
तेरा यूं मुकर जाना
AJAY AMITABH SUMAN
कोई हंस रहा है कोई रो रहा है 【निर्गुण भजन】
कोई हंस रहा है कोई रो रहा है 【निर्गुण भजन】
Khaimsingh Saini
Loading...