Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Nov 2022 · 1 min read

ख्वाहिश

ये जो दिन बीते हैं ख्वाहिश में
इनसे कह दो ये न दोबारा हो।
इस कदर तुम मे समाया
जैसे गलियों का आवारा हो |
बैठे-बैठे बस यही सोचा…
काश अगला समय हमारा हो।।
इतना पत्थर तुम बने कैसे,
मेरे गमों का तुम सहारा हो ।।
आज का दिन ऐसे गुजरा है
जैसे वर्षों तलक गुजारा हो

©®अमरेश मिश्र

10 Likes · 2 Comments · 177 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from अमरेश मिश्र 'सरल'
View all
You may also like:
अभागा
अभागा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
हम शिक्षक
हम शिक्षक
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
हमारे प्यारे दादा दादी
हमारे प्यारे दादा दादी
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
Vansh Agarwal
✍️♥️✍️
✍️♥️✍️
Vandna thakur
साहित्य में प्रेम–अंकन के कुछ दलित प्रसंग / MUSAFIR BAITHA
साहित्य में प्रेम–अंकन के कुछ दलित प्रसंग / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
पारख पूर्ण प्रणेता
पारख पूर्ण प्रणेता
प्रेमदास वसु सुरेखा
उसकी मोहब्बत का नशा भी कमाल का था.......
उसकी मोहब्बत का नशा भी कमाल का था.......
Ashish shukla
नारी तेरा रूप निराला
नारी तेरा रूप निराला
Anil chobisa
रूठना
रूठना
Shiva Awasthi
पुण्यात्मा के हाथ भी, हो जाते हैं पाप।
पुण्यात्मा के हाथ भी, हो जाते हैं पाप।
डॉ.सीमा अग्रवाल
जय भोलेनाथ ।
जय भोलेनाथ ।
Anil Mishra Prahari
नर नारी संवाद
नर नारी संवाद
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सब विश्वास खोखले निकले सभी आस्थाएं झूठीं
सब विश्वास खोखले निकले सभी आस्थाएं झूठीं
Ravi Ghayal
2891.*पूर्णिका*
2891.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
द्रोण की विवशता
द्रोण की विवशता
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ग़ज़ल
ग़ज़ल
प्रीतम श्रावस्तवी
प्यार दर्पण के जैसे सजाना सनम,
प्यार दर्पण के जैसे सजाना सनम,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
"ये कैसा दस्तूर?"
Dr. Kishan tandon kranti
"यादों के झरोखे से"..
पंकज कुमार कर्ण
अंतिम क्षण में अपना सर्वश्रेष्ठ दें।
अंतिम क्षण में अपना सर्वश्रेष्ठ दें।
Bimal Rajak
वक़्त ने किया है अनगिनत सवाल तपते...
वक़्त ने किया है अनगिनत सवाल तपते...
सिद्धार्थ गोरखपुरी
तुम्हारे अवारा कुत्ते
तुम्हारे अवारा कुत्ते
Maroof aalam
*चंदा मामा (बाल कविता)*
*चंदा मामा (बाल कविता)*
Ravi Prakash
*लाल सरहद* ( 13 of 25 )
*लाल सरहद* ( 13 of 25 )
Kshma Urmila
ईर्ष्या
ईर्ष्या
Shyam Sundar Subramanian
हमने माना अभी
हमने माना अभी
Dr fauzia Naseem shad
प्रेम
प्रेम
Sushmita Singh
*तन्हाँ तन्हाँ  मन भटकता है*
*तन्हाँ तन्हाँ मन भटकता है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
बहुत सोर करती है ,तुम्हारी बेजुबा यादें।
बहुत सोर करती है ,तुम्हारी बेजुबा यादें।
पूर्वार्थ
Loading...