Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 11, 2022 · 1 min read

ख्वाब ही जीवन है

एक जीवन नहीं ख्वाबों को जीना सीखो l
एक मर्ज नहीं एक कर्ज मिटाना सीखो ll
साहिल समुन्दर गहराइयों को छोड़ो l
आशाओं के नौका पर पतवार चलाना सीखो ll
हमदर्द बन के हंस के साथ चलने से अच्छा l
हर पीर परायी चीजों में एक पीर बटाना सीखो ll
शाख समुन्दर में लोगों का करने से बेहतर l
हर बड़े शाख के नीचे तुम शीश झुकाना सीखो ll
मत देखो क्या कहते है क्या करते हैं तुमको लोग l
हर तरह के लोगो में एक मीत बनाना सीखो ll
ना सही साहस तुममे हर एक रावण से लड़ने की l
पर इस जालसाज दुनिया में विभीषण को बचाना सीखो ll
मत देखो क्या-2 लोग यहां नित नए दिन करते रहते l
लेकिन तुम अपने जीवन में एक नया कर्म करना सीखो ll
यू तो कहना सदैव एक साधारण सी बात है l
पर खुद से लड़कर तुम एक राह बनाना सीखो ll
ऊपर वाला सदैव हम मानव से कहता होगा l
मत पढ़ो इतिहास के पन्नों को,इतिहास बनाना सीखो ll
# महेंद्र कुमार राय
#9935880999
#mahendrarai0999@gmail.com

4 Likes · 3 Comments · 128 Views
You may also like:
गरम हुई तासीर दही की / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
एहसास पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
"अशांत" शेखर भाई के लिए दो शब्द -
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
चूँ-चूँ चूँ-चूँ आयी चिड़िया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
कई चेहरे होते है।
Taj Mohammad
नींदों से कह दिया है
Dr fauzia Naseem shad
रंग हरा सावन का
श्री रमण 'श्रीपद्'
तुम मुझे सोच
Dr fauzia Naseem shad
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग ७]
Anamika Singh
जोशवान मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
गँवईयत अच्छी लगी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
★HAPPY FATHER'S DAY ★
KAMAL THAKUR
तेरे बिन
Harshvardhan "आवारा"
मेहमान बनकर आए और दुश्मन बन गए ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
"पिता की क्षमता"
पंकज कुमार "कर्ण"
*श्री शचींद्र भटनागर : एक अध्यात्मवादी गीतकार*
Ravi Prakash
अश्रुपात्र A glass of years भाग 6 और 7
Dr. Meenakshi Sharma
नोटबंदी ने खुश कर दिया
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
अग्रवाल धर्मशाला में संगीतमय श्री रामकथा
Ravi Prakash
सावन में साजन को संदेश
Tnmy R Shandily
आपके जाने के बाद
pradeep nagarwal
कविता –सच्चाई से मुकर न जाना
रकमिश सुल्तानपुरी
लेखनी
Anamika Singh
"Happy National Brother's Day"
Lohit Tamta
अब हमें तुम्हारी जरूरत नही
Anamika Singh
ज़िंदगी क्या है ?
Dr fauzia Naseem shad
क़ैद में 15 वर्षों तक पृथ्वीराज और चंदबरदाई जीवित थे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...