Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jun 2022 · 1 min read

ख्वाब ही जीवन है

एक जीवन नहीं ख्वाबों को जीना सीखो l
एक मर्ज नहीं एक कर्ज मिटाना सीखो ll
साहिल समुन्दर गहराइयों को छोड़ो l
आशाओं के नौका पर पतवार चलाना सीखो ll
हमदर्द बन के हंस के साथ चलने से अच्छा l
हर पीर परायी चीजों में एक पीर बटाना सीखो ll
शाख समुन्दर में लोगों का करने से बेहतर l
हर बड़े शाख के नीचे तुम शीश झुकाना सीखो ll
मत देखो क्या कहते है क्या करते हैं तुमको लोग l
हर तरह के लोगो में एक मीत बनाना सीखो ll
ना सही साहस तुममे हर एक रावण से लड़ने की l
पर इस जालसाज दुनिया में विभीषण को बचाना सीखो ll
मत देखो क्या-2 लोग यहां नित नए दिन करते रहते l
लेकिन तुम अपने जीवन में एक नया कर्म करना सीखो ll
यू तो कहना सदैव एक साधारण सी बात है l
पर खुद से लड़कर तुम एक राह बनाना सीखो ll
ऊपर वाला सदैव हम मानव से कहता होगा l
मत पढ़ो इतिहास के पन्नों को,इतिहास बनाना सीखो ll
# महेंद्र कुमार राय
#9935880999
#mahendrarai0999@gmail.com

Language: Hindi
5 Likes · 3 Comments · 449 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हिम्मत है तो मेरे साथ चलो!
हिम्मत है तो मेरे साथ चलो!
विमला महरिया मौज
हार कभी मिल जाए तो,
हार कभी मिल जाए तो,
Rashmi Sanjay
*
*"गंगा"*
Shashi kala vyas
कुछ मुक्तक...
कुछ मुक्तक...
डॉ.सीमा अग्रवाल
विषय:गुलाब
विषय:गुलाब
Harminder Kaur
6. *माता-पिता*
6. *माता-पिता*
Dr Shweta sood
बुद्ध
बुद्ध
Bodhisatva kastooriya
******** रुख्सार से यूँ न खेला करे ***********
******** रुख्सार से यूँ न खेला करे ***********
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
पैर धरा पर हो, मगर नजर आसमां पर भी रखना।
पैर धरा पर हो, मगर नजर आसमां पर भी रखना।
Seema gupta,Alwar
नादानी
नादानी
Shaily
रोम रोम है दर्द का दरिया,किसको हाल सुनाऊं
रोम रोम है दर्द का दरिया,किसको हाल सुनाऊं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हो गई है भोर
हो गई है भोर
surenderpal vaidya
प्रिय विरह
प्रिय विरह
लक्ष्मी सिंह
वक़्त के साथ
वक़्त के साथ
Dr fauzia Naseem shad
शिक्षक श्री कृष्ण
शिक्षक श्री कृष्ण
Om Prakash Nautiyal
*पुस्तक समीक्षा*
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
बड़े लोग क्रेडिट देते है
बड़े लोग क्रेडिट देते है
Amit Pandey
कविता
कविता
Alka Gupta
छोड़कर जाने वाले क्या जाने,
छोड़कर जाने वाले क्या जाने,
शेखर सिंह
रमेशराज के 2 मुक्तक
रमेशराज के 2 मुक्तक
कवि रमेशराज
"शेष पृष्ठा
Paramita Sarangi
जनता हर पल बेचैन
जनता हर पल बेचैन
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
"कहानी अउ जवानी"
Dr. Kishan tandon kranti
जीवन दर्शन मेरी नजर से ...
जीवन दर्शन मेरी नजर से ...
Satya Prakash Sharma
तख्तापलट
तख्तापलट
Shekhar Chandra Mitra
खेल संग सगवारी पिचकारी
खेल संग सगवारी पिचकारी
Ranjeet kumar patre
गुरु की महिमा
गुरु की महिमा
Ram Krishan Rastogi
2890.*पूर्णिका*
2890.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"ऊँची ऊँची परवाज़ - Flying High"
Sidhartha Mishra
मजे की बात है
मजे की बात है
Rohit yadav
Loading...